सोना हुआ सस्ता, जानिए क्या चल रहा है 10gm सोने का रेट

0
8

सोने एवं चांदी के वायदा भाव में गुरुवार को गिरावट का रुख देखने को मिला। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर सुबह 10:55 बजे अगस्त अनुबंध वाले सोने का रेट 134 रुपये यानी 0.27 फीसद की टूट के साथ 48,990 रुपये प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। इससे पहले बुधवार को अगस्त कॉन्ट्रैक्ट वाले सोने का रेट 49,124 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा था। इसी तरह अक्टूबर, 2021 में डिलिवरी वाले सोने का रेट 165 रुपये यानी 0.33 फीसद लुढ़ककर 49,246 रुपये प्रति 10 ग्राम पर चल रहा था। इससे पिछले सत्र में अक्टूबर, 2021 कॉन्ट्रैक्ट वाले सोने का रेट 49,411 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा था।

Gold Price Today मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर सुबह 1055 बजे अगस्त अनुबंध वाले सोने का रेट (Gold Rate) 134 रुपये यानी 0.27 फीसद की टूट के साथ 48990 रुपये प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहा था।

वायदा बाजार में चांदी की कीमत

MCX पर सुबह 10:56 बजे जुलाई, 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 372 रुपये यानी 0.52 फीसद की टूट के साथ 71,512 रुपये प्रति किलोग्राम पर ट्रेंड कर रही थी। इससे पिछले सत्र में जुलाई कॉन्ट्रैक्ट वाली चांदी की कीमत 71,884 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी। सितंबर, 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 355 रुपये यानी 0.49 फीसद की गिरावट के साथ 72,667 रुपये प्रति किलोग्राम पर ट्रेंड कर रही थी। बुधवार को सितंबर, 2021 कॉन्ट्रैक्ट वाली चांदी की कीमत 73,022 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी।

वैश्विक बाजार में सोने का दाम

ब्लूमबर्ग के मुताबिक कॉमेक्स पर अगस्त, 2021 में डिलिवरी वाले सोने का रेट (Gold Price) 9.60 डॉलर यानी 0.51 फीसद की टूट के साथ 1,885.90 डॉलर प्रति औंस पर चल रहा था। दूसरी ओर स्पॉट मार्केट में सोने का भाव 4.40 रुपये डॉलर यानी 0.23 फीसद की गिरावट के साथ 1,884.17 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी की कीमत

कॉमेक्स के मुताबिक जुलाई, 2021 में डिलिवरी वाली चांदी की कीमत 0.24 डॉलर यानी 0.85 फीसद की टूट के साथ 27.77 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी। इसी तरह हाजिर बाजार में चांदी की कीमत 0.12 डॉलर यानी 0.45 फीसद की गिरावट के साथ 27.65 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में प्रमुख (कमोडिटीज) हरीश वी ने कहा कि स्थिर अमेरिकी डॉलर से सोने के भाव में हल्की नरमी देखने को मिली। दूसरी ओर, अमेरिका के महंगाई दर से जुड़े डेटा जारी होने और यूरोपीय सेंट्रल बैंक की मीटिंग से पहले निवेशकों ने सतर्क रुख अपनाया।