Friday, September 24, 2021
Homeदिल्लीग्रेटर नोएडा : गवाही न दे सके, इसलिए सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता पर...

ग्रेटर नोएडा : गवाही न दे सके, इसलिए सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता पर जानलेवा हमला; मरा समझ छोड़ा

ग्रेटर नोएडा. ग्रेटर नोएडा के नॉलेेज पार्क एरिया में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की हत्या करने का प्रयास किया गया। सामूहिक दुष्कर्म मामले में गुरुवार को कोर्ट में सुनवाई होनी थी, उससे पहले ही तीन युवकों ने हमला कर दिया था। हमलावरों ने पहले बुधवार दोपहर में नॉलेज पार्क के स्काई लाइन कॉलेज के पास ही सिर पर रॉड से हमला किया, जिससे वह बेहोश हो गई। इसके बाद तार व रस्सी से गला दबा दिया।

पीड़िता को मरा हुआ समझकर तीनों आरोपी सुनसान जगह पर फेंककर भाग निकले। वहां से गुजर रहे लोगों ने इस बारे में पुलिस को सूचना दी थी। युवती को पहले शारदा अस्पताल में भर्ती कराया जहां से फिर गाजियाबाद के एक अस्पताल में भेज दिया गया। इस घटना में नॉलेज पार्क थाने की पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है।

युवती के सिर पर पहले रॉड मारी फिर गला दबाया

ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की हत्या के प्रयास में युवकों ने काफी बर्बरता दिखाई। हमलावरों ने पहले बुधवार दोपहर में नॉलेज पार्क के स्काई लाइन कॉलेज के पास ही सिर पर रॉड से हमला किया। बेहोश होने पर तार व रस्सी से गला दबा दिया। पीड़िता को मरा हुआ समझकर तीनों आरोपी सुनसान जगह पर फेंककर भाग निकले। वहां से गुजर रहे लोगों ने इस बारे में पुलिस को सूचना दी थी। युवती को पहले शारदा अस्पताल में भर्ती कराया जहां से फिर गाजियाबाद के एक अस्पताल में भेज दिया गया।

हादसे के बाद पिता के साथ रह रही थी युवती

सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद युवती गाजियाबाद में अपने पिता के साथ रहने लगी थी। युवती की 2011 में ग्रेटर नोएडा में रहने वाले व्यक्ति के साथ शादी हुई थी। इस समय युवती के दो बच्चे भी हैं। दोनों अपनी मां के साथ ही रहते हैं। युवती के पिता ने बताया कि उनके रिटायर्ड होने की वजह से बेटी ही अपने दोनों बच्चों का खर्च उठा रही है। इसलिए उसने ग्रेटर नोएडा के कॉलेज में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी शुरू कर दी थी।

हालांकि, वहां आने-जाने पर सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी कोर्ट में सुनवाई से पहले लगातार धमकी दे रहे थे। कई बार समझौता करने का भी दबाव बनाया गया था। मगर न्याय के लिए उसने आखिरी दम तक लड़ाई लड़ने की बात कही थी। इसीलिए उसने एक महीने से नौकरी भी छोड़ दी थी। करीब 15 दिन के पैसे लेने के लिए बुधवार को वह कॉलेज जा रही थी तभी तीनों आरोपियों ने हमला कर दिया। जिससे उसकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है।

पति ने ही कराया था सामूहिक दुष्कर्म

सामूहिक दुष्कर्म की घटना ससुराल में ही नवंबर 2018 में हुई थी। इसका आरोप उसके रिश्ते के 2 देवर व अन्य लोगों पर ही है। घटना को सभी आरोपियों ने शराब के नशे में अंजाम दिया था। अब सूरजपुर कोर्ट में सुनवाई चल रही है। गुरुवार को भी सुनवाई होनी थी।
^घटना की शिकायत मिलने के तुरंत बाद हत्या के प्रयास में मामला दर्ज कर लिया गया। युवती की हालत गंभीर बताई जा रही है। तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। -अरविंद पाठक, एसएचओ

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments