Wednesday, September 22, 2021
Homeहिमाचलहरियाणा / अर्जुन चौटाला और जैसमीन कौर ने पहनाई एक-दूसरे को रिंग, आशीर्वाद...

हरियाणा / अर्जुन चौटाला और जैसमीन कौर ने पहनाई एक-दूसरे को रिंग, आशीर्वाद देने पैरोल पर आए दादा

  • हरियाणा के पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला भी पोते अर्जुन को आशीर्वाद देने के लिए पैरोल पर आए हैं
  • अर्जुन ग्रेजुएशन कर रहे हैं जबकि जैसमीन एमबीबीएस की स्टूडेंट हैं

सिरसा. हरियाणा की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के पड़पोते अर्जुन चौटाला और इनेलो के यमुनानगर विधायक दिलबाग सिंह की बेटी जैसमीन कौर की सगाई गुरुवार को हुई। दोनों ने एक-दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई की रस्म पूरी की। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल समेत कई राजनीतिक हस्तियों ने नई जोड़ी को आशीर्वाद दिया।

पोते की सगाई के लिए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला खास दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाकर एक हफ्ते की पैरोल पर आए हैं। अभय के बेटे अर्जुन चौटाला अभी ग्रेजुएशन कर रहे हैं, लेकिन वे सक्रिय राजनीति में कदम रख चुके हैं। उन्होंने कुरुक्षेत्र से लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव लड़ा था। वहीं, दिलबाग सिंह की बेटी जैसमीन कौर मुलाना से एमबीबीएस कर रही हैं।

पुराना ताल्लुक है दोनों परिवारों में

दिलबाग के दादा पहलवान ठाकुर सिंह के पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के साथ अच्छे संबंध थे। वे उनके साथ पार्टी से जुड़े। जबकि दिलबाग के पिता बिशा सिंह ने पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला के साथ राजनीति की। दिलबाग सिंह तीसरी पीढ़ी के नेता हैं और 2009 से 2014 तक इनेलो के टिकट पर यमुनानगर से विधायक भी रहे हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में जीत नहीं पाए। दिलबाग सिंह बिजनेसमैन हैं। उनकी कई इंडस्ट्री है। माइनिंग व ट्रांसपोर्ट का भी काम है।

अभय ने रिश्ते की बात रखी, दिलबाग ने स्वीकार की

पुराने संबंध के चलते ही अभय सिंह चौटाला ने अपने बेटे अर्जुन का रिश्ता इस परिवार में किया है। दिलबाग ने बताया कि चौटाला परिवार से उनके परिवार का पुराना नाता है। दादा जी से लेकर अब तक परिवार इनेलो से जुड़ा है। अभय ने बेटे के लिए बेटी के रिश्ते की बात रखी। मैंने स्वीकार कर ली। आज टीका यानि सगाई की रस्म तेजाखेड़ा फार्म हाउस में निभाई गई।

पैरोल लेकर पहुंचे दादा

पोते की सगाई के लिए पूर्व सीएम दादा ओम प्रकाश चौटाला ने 4 सप्ताह की पैरोल के लिए याचिका दायर की थी। इस पर हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से रिपोर्ट मांगी थी। मंगलवार को सरकार की ओर से रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद 7 दिन की पैरोल दी गई है। इसके बाद वह बुधवार शाम को ही तेजाखेड़ा पहुंच गए थे।

दिखी परिवार की टूटन, अजय के कुनबे को नहीं दिया न्यौता
सूत्रों की मानें तो इनेलो से जेजेपी का गठन करने वाले चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के बड़े बेटे अजय सिंह चौटाला के परिवार को अर्जुन चौटाला की सगाई का निमंत्रण नहीं मिला, क्योंकि राजनितिक रिश्ते अलग-अलग होने के कारण अभय सिंह चौटाला ने जींद उप चुनाव में ओमप्रकाश चौटाला के बीमार होने के बावजूद तिहाड़ में जाने और रातों रात जेल में शिफ्ट करने की कार्रवाई से नाराज हुए अभय सिंह चौटाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पारिवारिक रिश्ते भी खत्म करने की बात कही थी।

इसलिए आया परिवार में बिखराव
अभय चौटाला ने आरोप लगाया था की दिल्ली की केजरीवाल सरकार से मिलकर खुद दुष्यंत और दिग्गविजय चौटाला ने जींद उपचुनाव में प्रचार करने के लिए चौटाला को आने से रोका है, इसलिए वह उनसे पारिवारिक रिश्ते भी खत्म करते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments