Saturday, September 18, 2021
Homeगैजेट्सक्या आपने देखा है 3-D प्रिंटेट चेहरे वाला ये कुत्ता

क्या आपने देखा है 3-D प्रिंटेट चेहरे वाला ये कुत्ता

रोबोट बनाने की तकनीक एक नए मुकाम पर पहुंच गई है, जहां एक ओर भारत में इंसान जैसी दिखने वाली रश्मी रोबोट तैयार हो चुकी हैं, वहीं विदेश में एक असली कुत्ते की समान दिखने वाला kरोबोडॉगl तैयार किया है। इस रोबोडॉग का नाम एस्ट्रो है।

डोबरमैन प्रजाति के कुत्ते की तरह दिखने वाले इस kरोबोडॉगl का सिर 3डी प्रिंटेड है। साथ ही इस kरोबोडॉगl एस्ट्रो को तैयार करने में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक का इस्तेमाल किया है, जिसके चलते यह लगभग एक वास्तविक कुत्ते के समान प्रतिक्रिया देता है। जैसे सिट (बैठ जाओ), स्टैंड (खड़े हो जाओ) और लाई डाउन (लेट जाओ) है।

नई ट्रिक सीखने में सक्षम 
फ्लोरिडा अटलांटिका यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा तैयार किया गया। साथ ही उन्होंने बताया कि यह नए कमांड और ट्रिक्स को सीखने में सक्षम है, जिसका अभ्यास वह खुद करा चुके हैं। इतना ही नहीं यह अलग-अलग भाषाओं में दी जाने वाली कमांड को भी समझने में सक्षम है। यहां तक कि अलग-अलग हैंड सिग्नल को भी पहचानने की कूवत रखता है।

ड्रोन के साथ करता है सुरक्षा 
यह kरोबोडॉगl सुरक्षा के लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है क्योंकि यह ड्रोन के साथ मिलकर काम कर सकता है। दरअसल, शोधकर्ताओं ने इस kरोबोडॉगl एस्ट्रो को ड्रोन के साथ जोड़ा और जो ड्रोन का कैमरा कैप्चर कर सकता है, उस डाटा का रोबोडॉग एस्ट्रो विश्लेषण करता है और जरूरत पड़ने पर उस जगह पर पहुंच भी जाता है। शोधकर्ताओं ने इसके बेहतर परिणाम देखे क्योंकि वह आसमान से भी निगरानी कर रहा था।

कंप्यूटर ब्रेन है इसकी खासियत 
फ्लोरिडा एटलांटिका यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक, यह सिर्फ मैकेनिकल डॉग नहीं है। बल्कि एस्ट्रो एक असली कुत्ते की तरह है और इसमें एक मैकेनिकल ब्रेन दिया गया है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, इसकी प्रोग्रामिंग काफी आधुनिक है और यह वास्तविक कुत्ते के बच्चे के समान नई बातें सीख सकता है।

ढेरों सेंसर से है लैस 
रोबोडॉग एस्ट्रो एक दर्जन से अधिक सेंसर के साथ आता है, जो वातावरण से रियल टाइम जानकारी लेने में मदद करते हैं। इसमें एक कैमरा, गैस सेंसर और रडार इमेंजिंग है। इसके अलावा इसमें डायरेक्शनल माइक्रोफोन है जो किसी भी दिशा से आने वाली आवाज को बेहतर तरीके से सुन सकता है। इतना ही नहीं, यह विषम परिस्थितियों में भी नेविगेशन बता सकता है।

इंसानी दिमाग जैसा बनाने की कोशिश 
फ्लोरिडा एटलांटिका यूनिवर्सिटी के डीन एटा साराजेडानी के मुताबिक, उनकी टीम ने एस्ट्रो की दिमाग को इंसानी दिमाग से प्रेरणा लेकर तैयार किया है। इसका दिमाग, मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेजीलेंस का बेजोड़ मेल है। साथ ही उन्होंने कहा कि एस्ट्रो दुनिया की सबसे जटिल समस्याओं को भी हल कर सकता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments