Thursday, September 23, 2021
Homeदेशकोरोना काल में कांग्रेस ने सरकार को बदनाम करने के लिए तैयार...

कोरोना काल में कांग्रेस ने सरकार को बदनाम करने के लिए तैयार कराई टूलकिट, भाजपा ने लगाया आरोप

सरकार की घेरेबंदी के लिए किसान आंदोलन के वक्त एक टूलकिट की साजिश का पर्दाफाश हुआ था। कोरोना काल में भी वैसी ही एक टूलकिट इंटरनेट मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। भाजपा का आरोप है कि राजनीतिक लाभ के लिए कांग्रेस ने इसे तैयार किया है। इस टूलकिट में कांग्रेस नेताओं को साफ निर्देश दिया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि पर हमला करें। उसी लाइन पर राहुल गांधी समेत कुछ नेता लगातार व्यक्तिगत वार भी कर रहे हैं। हर कांग्रेसी नए कोरोना वैरिएंट के लिए मोदी वैरिएंट जैसे शब्दों का उपयोग कर रहा है। विदेशी मीडिया को जलते शवों के फोटो उपलब्ध कराए जा रहे हैं ताकि सरकार कठघरे में खड़ी हो।

इस टूलकिट में कांग्रेस नेताओं को साफ निर्देश दिया गया है कि पीएम मोदी की छवि पर हमला करें। उसी लाइन पर राहुल गांधी समेत कुछ नेता लगातार व्यक्तिगत वार भी कर रहे हैं। हर कांग्रेसी नए कोरोना वैरिएंट के लिए मोदी वैरिएंट जैसे शब्दों का उपयोग कर रहा है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस समाज को बांटने और विष फैलाने में माहिर है। महामारी के काल में भी कांग्रेस की आदत नहीं छूट रही है। मैं आग्रह करता हूं कि कांग्रेस टूलकिट माडल से बाहर आकर कुछ सकारात्मक काम करे।

कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस ने लगातार खड़े किए सवाल

पिछले दिनों में कांग्रेस की ओर से लगातार सरकार के कोविड प्रबंधन पर सवाल खड़ा किए जाते रहे हैं। लेकिन फिलहाल कांग्रेस को खुद से जाल से निकलना पड़ेगा। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने न सिर्फ आरोप लगाए बल्कि टूलकिट में उपयोग हुए शब्द और माडल और राहुल गांधी समेत कांग्रेस के दूसरे नेताओं के ट्वीट में उपयोग हो रहे शब्द और कार्यशैली में समानता को उदाहरण के रूप में पेश किया।

कथित टूलकिट में अलग अलग विषय के तहत निर्देश दिए गए हैं। इसमें एक विषय है- मोदी की छवि। इसमें कहा गया है कि मोदी की एप्रूवल रेटिंग अभी भी काफी है। लेकिन यही अवसर है कि उनकी छवि को ध्वस्त किया जाए। इसके तहत सुझाए गए बिंदुओं में कहा गया है- मोदी को कठघरे में खड़े करने वाले सवाल इंटरनेट मीडिया पर पूछे जाएं। पात्रा ने कहा कि यह सब लगातार कांग्रेस नेताओं के आचरण में दिख रहा है।

कांग्रेस की टूलकिट में डबल म्यूटेंट को इंडियन म्यूटेंट कहा गया

राहुल रोजाना सुबह उठते ही सवाल खड़े करते हैं और प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाते हैं। इस टूलकिट में यह भी सुझाया गया है कि सेंट्रल विस्टा पर सवाल खड़े करें और इसे ‘मोदी का महल’ बताएं। इसमें कहा गया है कि डबल म्यूटेंट को इंडियन म्यूटेंट और इंटरनेट मीडिया पर मोदी म्यूटेंट बताएं। पात्रा ने कहा कि राहुल के ट्वीट देखें या कांग्रेस सांसद शशि थरूर के या किसी और कांग्रेस नेता के, यह साबित हो जाता है कि जो कुछ टूलकिट में कहा गया है कांग्रेस उसी तरह काम कर रही है ताकि मोदी और देश की छवि को नुकसान पहुंचाकर राजनीतिक लाभ उठाया जा सके।

विदेशी मीडिया ने भी यह काम बखूबी किया 

 

चार पेज की इस टूलकिट के पहले पन्ने पर कुंभ के बारे में विवरण दिया गया है और कहा गया है कि इसे सुपरस्प्रेडर बताया जाए ताकि लोगों में यह भावना बैठे कि भाजपा के हिंदू एजेंडे के कारण देश में कोरोना फैला। विदेशी मीडिया ने यह काम बखूबी किया है इसे और बढ़ावा देने की जरूरत है। वहीं ईद के साथ कुंभ को जोड़ने की किसी भी बहस से बचने की सलाह दी गई। पात्रा ने कहा कि कोरोना काल में भी कांग्रेस धर्म की राजनीति से बाज नहीं आ रही है।

टूलकिट के दूसरे पेज पर दो फोटो देकर यह साबित करने की भी कोशिश की गई है कि ईद आपसी प्रेम और सौहार्द का पारिवारिक पर्व है जबकि कुंभ एक धार्मिक आयोजन।

टूलकिट के माध्यम से ही सेंट्रल विस्टा पर उठाए गए सवाल

पीएम केयर्स फंड के उपयोग और उसके तहत भेजे गए वेंटिलेटर पर सवाल खड़े करने, कार्यकर्ताओं की ओर से अलग-अलग आरटीआइ फाइल करने, पीएम केयर्स के जरिए अपारदर्शी रूप से पैसा जमा करने जैसे मुद्दों पर बहस खड़ी करने की बात भी कही गई। गुजरात को अधिक मदद पहुंचाने, सेंट्रल विस्टा में 20 हजार करोड़ खर्च करने जैसे सवाल उठाए जाएं और लोगों को बताया जाए कि इतने पैसे में दो करोड़ लोगों के लिए हर माह छह हजार रुपये की न्याय स्कीम चलाने जैसी बात करनी चाहिए।

टूलकिट के माध्यम से भाजपा के इन नेताओं को किया गया टारगेट

इसी टूलकिट में मिसिंग अमित शाह, क्वारंटाइन जयशंकर, साइडलाइंड राजनाथ सिंह, इनसेंसिटिव निर्मला जैसे शब्द का उपयोग करने और समय-समय पर प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर भावनात्मक सुझाव देने की बात भी कही गई है।

पात्रा ने कहा कि कांग्रेस की इस टूलकिट और पिछले दिनों कांग्रेस नेताओं के आचरण को देखने भर से साफ हो जाता है कि कांग्रेस किस तरह गंदी राजनीतिक पर उतारू है। पिछले दिनों में सोनिया गांधी, डा. मनमोहन सिंह, राहुल गांधी और गुलाम नबी आजाद जैसे नेताओं की ओर से चिट्ठी लिखी गई। कांग्रेस नेताओं की ओर से वही शब्द बोले जा रहे हैं जो टूलकिट में कहे गए हैं।

कांग्रेस ने टूलकिट को फर्जी बताया

कांग्रेस की कथित इंटरनेट मीडिया टूलकिट पर भाजपा के आरोपों का मामला पुलिस थाने पहुंच गया है। कांग्रेस ने भाजपा के दावे को फर्जी बताते हुए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और प्रवक्ता संबित पात्रा समेत पार्टी के कुछ अन्य नेताओं के खिलाफ पुलिस से एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि दिल्ली पुलिस ने उसकी शिकायत पर एफआइआर दर्ज नहीं की तो पार्टी अदालत का दरवाजा भी खटखटाएगी। कांग्रेस ने इस कथित टूलकिट को लेकर भाजपा नेताओं के बयानों और सोशल मीडिया पोस्ट की प्रतियों के साथ दिल्ली पुलिस को लिखित शिकायत देते हुए कई धाराओं में एफआइआर दर्ज करने की मांग की है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments