Tuesday, September 28, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशबाराबंकी में चोरी के शक में युवक की पिटाई, करंट लगाया और...

बाराबंकी में चोरी के शक में युवक की पिटाई, करंट लगाया और पेट्रोल से जलाया

  • देवा कोतवाली क्षेत्र के राघवपुरवा गांव की वारदात
  • गंभीर हालत सीएचसी देवा से सिविल अस्पताल लखनऊ रेफर
  • पुलिस ने दो नामजद व कई अज्ञात पर दर्ज किया केस

पैदल ससुराल जा रहे एक युवक को रास्ते में ग्रामीणों ने पकड़कर चोरी करने का आरोप लगाकर हैवानियत की हदें पार कर डालीं। युवक की लाठी, डंडों से पिटाई करने के साथ उसे पानी में डुबोया फिर करंट लगाया और पेट्रोल डालकर जलाने का प्रयास किया।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवक को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया। फिर उसे सीएचसी पहुंचाया जहां से उसे गंभीर हालत में सिविल अस्पताल लखनऊ में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने दो नामजद व कई अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की है।

पुलिस के मुताबिक देवा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम छिंदवाही के मजरे राघवपुरवा की है। बताते हैं कि गुरुवार की दोपहर सुरजीत गौतम (22) पुत्र खुशीराम निवासी तिंदोला अपनी ससुराल टाई कला जा रहा था। रास्ते में पड़ने वाले गांव राघोपुरवा में कुत्तों के झुंड को देखकर वह गांव के किनारे रुक गया। इसी दौरान वहां पर गांव के कुछ लोगों ने उसे घेर लिया और उस पर गांव में चार दिन पूर्व देशराज के घर पर हुई चोरी करने का आरोप लगाया और लाठियों से पीटना शुरू कर दिया।

इस दौरान सुरजीत चिल्लाता रहा कि वह बेगुनाह है। उसने कहा कि वह पेंटिंग का कार्य कर अपने परिवार का पेट पालता है चोर नहीं है। आज अपनी ससुराल अपनी बच्ची को बुलाने जा रहा था। लेकिन उसकी गिड़गिड़ाहट का दबंगों पर कोई असर नहीं हुआ।

पिटाई के बाद उसे बिजली का करंट लगाया गया जिससे सुरजीत बेहाल हो गया। बाद में उसे एक बड़े ड्रम में पानी भर कर उसे उल्टा पानी में डुबोया गया। जब इतनी यातनाओं से भी इन दबंगों का मन नहीं भरा तो इन लोगों ने आखिर में उसे जान से मारने की नीयत से उस पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी जिससे वह जलते हुए जमीन पर तड़पने लगा।

इसी दौरान उधर से निकलने वाले कुछ राहगीर ग्रामीणों के हस्तक्षेप के बाद किसी तरह सुरजीत की आग बुझाई जा सकी। लेकिन तब तक उसका सीना, पेट व कमर का हिस्सा काफी जल चुका था। इस घटना के बाद पहुंची पुलिस व परिजनों ने युवक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवा में भर्ती कराया गया जहां उसकी हालत चिंताजनक देखते हुए उसे लखनऊ के सिविल अस्पताल की बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद गांव व उसके पास पड़ोस के गांव मोहल्लों में दहशत का आलम है।

राघव पुरवा गांव के निवासी देशराज यादव के घर में चार दिन पूर्व चोरी हो गई थी जिसकी सूचना पुलिस को दी थी। लेकिन माती चौकी पुलिस की लापरवाही के चलते न तो चौकी से कोई घटनास्थल पर पहुंचा और न ही इसकी रिपोर्ट दर्ज की गई। इसे लेकर परिजन गुस्से में थे। शायद इसी गुस्से में उन्होंने खुद कानून को हाथ में लिया। चोरी के शक में एक निर्दोष युवक के साथ इस तरह की हैवानियत कर डाली।

एक युवक पर चोरी का आरोप लगाकर कुछ लोगों द्वारा यातनाएं देने के साथ ही पेट्रोल डालकर जला देने की सूचना मिलने पर तुरंत मौके पर पुलिस पहुंच गई थी। पीड़ित को सीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे सिविल अस्पताल लखनऊ के लिए रेफर किया गया है जहां उसका उपचार किया जा रहा है। पीड़ित की पत्नी पूनम की तहरीर पर उमेश यादव, श्रवण यादव को नामजद करते हुए कई अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दी जा रही है।
प्रमोद कुमार सिंह, प्रभारी कोतवाली देवा

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments