Tuesday, September 28, 2021
Homeटॉप न्यूज़अफगानिस्‍तान में फंसे लोगों के लिए भारत ने बढ़ाए हाथ, बनाई नई...

अफगानिस्‍तान में फंसे लोगों के लिए भारत ने बढ़ाए हाथ, बनाई नई e-Emergency X-Misc वीजा कैटेगिरी

भारत सरकार ने अफगानिस्‍तान के मौजूदा हालातों को देखते हुए अपनी वीजा नीति में कुछ बदलाव किया है। इस बदलाव का मकसद अफगानिस्‍तान में फंसे लोगों की मदद करना है। इसके तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय ने e-Emergency X-Misc Visa कैटेगिरी की शुरुआत की है। ये कैटेगिरी खासतौर पर उन लोगों के लिए फायदेमंद साबित होगी जो तालिबान से अपनी जान बचाने के लिए देश छोड़ना चाहते हैं।

भारत ने अफगानिस्‍तान के हालातों के मद्देनजर वीजा की एक नई कैटेगिरी बनाई है। ये कैटेगिरी उन लोगों को सबसे अधिक फायदा पहुंचाएगी जो लोग वहां से तुरंत निकलने की कोशिश कर रहे हैं। ये ऐसे लोगों के लिए वरदान साबित हो सकती है।

आपको बता दें कि 15 अगस्‍त को तालिबान ने काबुल पर कब्‍जा कर सत्‍ता पर नियंत्रण कर लिया है। अब उसका सत्‍ता पर काबिज होना महज एक औपचारिकता भर ही रह गया है। तालिबान को लेकर अफगान नागरिकों में दहशत व्‍याप्‍त है। इसकी एक बड़ी वजह है कि वो पूर्व में तालिबान का शासन और उसकी क्रूरता को देख चुके हैं। यही वजह है कि वो जल्‍द से जल्‍द अपने बेहतर भविष्‍य के लिए देश छोड़ना चाहते हैं। ऐसे ही लोगों के लिए भारत ने वीजा की ये नई कैटेगिरी बनाई है।

गौरतलब है कि सोमवार को संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने दुनिया से अपील की थी कि वो अफगानिस्‍तान नागरिकों की मदद के लिए आगे आएं। उन्‍होंने ये भी अपील की थी कि अफगान शरणार्थियों को अपने यहां पर शरण देने से कोई भी देश पीछे न रहे। यूएन की इस अपील के बाद भारत सरकार की नई वीजा कैटेगिरी इन लोगों के लिए वरदान साबित होगी।

अमेरिका ने रविवार को 600 से अधिक अफगानियों को अपने वायु सेना के विमान ग्‍लोबल मास्‍टर से सुरक्षित कतर पहुंचाया था। हालांकि अब उसका ध्‍यान पूरी तरह से अपने नागरिकों और जवानों को काबुल से सुरक्षित निकालने पर लगा हुआ है। अमेरिका के अफगानिस्‍तान से हाथ खड़े करने के बाद वहां के हालात तेजी से बदले हैं। महज चार माह के अंदर ही तालिबान ने अफगानिस्‍तान पर कब्‍जा कर सभी को चौंका दिया है। इस तेजी ने अमेरिका को भी हैरान कर दिया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments