Saturday, September 25, 2021
Homeव्यापारमैन्‍युफैक्‍चरिंग में भारत ने गाड़ा दुनिया में झंडा, बस इस पड़ोसी को...

मैन्‍युफैक्‍चरिंग में भारत ने गाड़ा दुनिया में झंडा, बस इस पड़ोसी को मात देना बाकी

अमेरिका (United States of America) को पछाड़कर भारत दुनिया का दूसरा सबसे आकर्षक विनिर्माण गंतव्य (Indian manufacturing hub ) बन गया है। रियल एस्टेट सलाहकार (Real Estate consultant) कुशमैन एंड वेकफील्ड (Cushman & Wakefield’s 2021 Global Manufacturing Risk Index) ने यह जानकारी दी है। मुख्य रूप से लागत के मोर्चे पर दक्षता की वजह से विनिर्माण केंद्र के रूप में भारत का आकर्षण बढ़ा है।

अमेरिका को पछाड़कर भारत दुनिया का दूसरा सबसे आकर्षक विनिर्माण गंतव्य (Indian manufacturing hub ) बन गया है। रियल एस्टेट सलाहकार कुशमैन एंड वेकफील्ड ( Cushman Wakefield’s 2021 Global Manufacturing Risk Index) ने यह जानकारी दी है।

यूरोप, अमेरिका और एशिया प्रशांत के 7 देश लिस्‍ट में शामिल

Cushman & Wakefield’s 2021 ने बयान में कहा कि वैश्विक विनिर्माण जोखिम सूचकांक-2021 (Global Manufacturing Risk Index 2021) में चीन पहले स्थान पर कायम है। यह सूचकांक यूरोप, द अमेरिकाज और एशिया-प्रशांत (एपीएसी) के 47 देशों में से वैश्विक विनिर्माण के लिए आकर्षक या लाभ वाले गंतव्यों का आकलन करता है।

चीन पहले नंबर पर

Cushman & Wakefield’s 2021 Global Manufacturing Risk Index की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे अधिक मांग वाले विनिर्माण गंतव्यों में चीन के बाद भारत दूसरे स्थान पर है। इस सूची में अमेरिका तीसरे, कनाडा चौथे, चेक गणराज्य पांचवें, इंडोनेशिया छठे, लिथुआनिया सातवें, थाइलैंड आठवें, मलेशिया नौवें और पोलैंड दसवें स्थान पर है।

2020 में अमेरिका दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर

पिछले साल की Cushman & Wakefield’s 2021 Global Manufacturing रिपोर्ट में अमेरिका दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर था। Cushman & Wakefield’s 2021 Global Manufacturing ने बयान में कहा कि इससे पता चलता है कि अमेरिका और एशिया-प्रशांत क्षेत्र की तुलना में विनिर्माता भारत में रुचि दिखा रहे हैं।

सालाना आधार पर भारत की रैंकिंग में सुधार

बयान में कहा गया है कि परिचालन की परिस्थतियों तथा लागत दक्षता की वजह से विनिर्माण गंतव्य के रूप में भारत का आकर्षण बढ़ा है। Cushman & Wakefield’s 2021 रिपोर्ट में इसके अलावा बताया गया है कि भारत ने आउटसोर्सिंग की जरूरतों को सफलतापूर्वक पूरा किया है। इससे सालाना आधार पर भारत की रैंकिंग में सुधार हुआ है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments