कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय पहलवानों ने दिखाया धमाल

0
30

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत अब तक 26 पदक जीत चुका है। इसमें नौ स्वर्ण, आठ रजत और नौ कांस्य पदक शामिल हैं। आठवें दिन पहलवान बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया और साक्षी मलिक ने स्वर्ण जीता। अंशु मलिक ने रजत जीता। वहीं, दिव्या काकरन और मोहित ग्रेवाल ने कांस्य जीता। भाविना ने भी पैरा टेबल टेनिस के फाइनल में जगह बना ली है और पदक पक्का कर लिया है। बजरंग पूनिया ने पुरुषों के 65 किग्रा वेट कैटेगरी में गोल्ड जीता। यह उनका गेम्स का लगातार दूसरा गोल्ड है। फाइनल में उन्होंने कनाडा के लछलन मैकनील को 9-2 से मात दी। इससे पहले बजरंग ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड के जॉर्ज रैम पर 10-0 से बड़ी जीत हासिल की थी। दीपक पूनिया टोक्यो ओलंपिक में मेडल नहीं जीत सके थे। लेकिन उन्होंने यहां निराश नहीं किया। उन्होंने 86 किग्रा वेट कैटेगरी में पाकिस्तान के पहलवान मोहम्मद इनाम को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। महिला पहलवान साक्षी मलिक ने लगातार तीसरे गेम्स में मेडल जीता। हालांकि वे पहली बार गोल्ड मेडल जीतने में सफल हुई हैं। उन्होंने 62 किग्रा वेट कैटेगरी के फाइनल में कनाडा की एना गोडिनेज गोंजालेज को मात दी। 2018 में उन्हें ब्रॉन्ज जबकि 2014 गेम्स में सिल्वर मिला था।

भारतीय पहलवान मोहित ग्रेवाल ने भी ब्रॉन्ज मेडल जीता। उन्होंने 125 किग्रा वेट कैटेगरी के मेडल मुकाबले में जमैका के आरोन जॉनसन को मात दी। इससे पहले उन्हें सेमीफाइनल में अमरवीर धेसी से 2-12 से हार मिली थी। महिला पहलवान दिव्या काकरान भी ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रहीं। 68 किग्रा वेट कैटेगरी के क्वार्टर फाइनल में वे नाइजीरिया की ब्लेसिंग ओबोरूडुडू से हार गई थीं। इसके बाद रेपचेज से वे मेडल तक पहुंचीं। उन्होंने टाइगर लिली कॉकर लेमालियर को सिर्फ 30 सेकंड में हराकर मेडल जीता। एक और जूनियर महिला पहलवान अंशु मलिक हालांकि गोल्ड नहीं जीत सकीं। उन्हें 57 किग्रा वेट कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता। फाइनल में वे नाइजीरिया की ओडुनायो अदेकुओरोये से 4-6 से हार गईं। इससे पहले सेमीफाइनल में वे 10-0 से जीत हासिल करने में सफल रही थीं। कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास की बात करें, तो भारत सिर्फ 3 ही खेलों में 100 से अधिक मेडल जीत सका है। इसमें कुश्ती भी शामिल है। इसके अलावा शूटिंग और वेटलिफ्टिंग में भी हमारा प्रदर्शन बेहतरीन है. मौजूदा गेम्स में अभी कई पहलवानों के मुकाबले बचे हैं, जो मेडल के दावेदार हैं।

9 स्वर्णः मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पावर लिफ्टिंग), बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया
8 रजतः संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर, अंशु मलिक
9 कांस्यः गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर, दिव्या काकरन, मोहित ग्रेवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here