Tuesday, September 28, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशनागरिकता कानून : उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में इंटरनेट बंद, 3305...

नागरिकता कानून : उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में इंटरनेट बंद, 3305 लोग हिरासत में; संभल में सपा सांसद बर्क समेत 17 पर केस दर्ज

लखनऊ/संभल. उत्तर प्रदेश में धारा 144 प्रभावी होने के बाद भी राजधानी लखनऊ और संभल में गुरुवार को नागरिकता कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हुआ। पुलिस मुख्यालय के मुताबिक, प्रदेश के विभिन्न जिलों में 3305 लोगों को हिरासत में लिया गया है। संभल में पथराव और आगजनी मामले में सपा सांसद डॉक्टर शफीकुर्रहमान बर्क समेत 17 पर केस दर्ज किया गया।

वहीं, लखनऊ में 7 एफआईआर लिखी गई। यहां 200 लोगों को गिरफ्तार किया गया। शुक्रवार को जुमे की नमाज के चलते प्रशासन सतर्क है। 20 जिलों में इंटरनेट ठप है। वहीं गुरुवार को लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से मृत वकील नाम के युवक का आज डॉक्टरों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम किया जाएगा। वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। जुमे की नमाज के बाद हालात फिर से बेकाबू न हों, इसके लिए हिंसा प्रभावित इलाके में फोर्स लगी है। दुकानें बंद हैं। सड़कों पर आवागमन बेहद कम है।

संभल में सपा सांसद पर एफआईआर

गुरुवार को संभल में सपा सांसद डॉक्टर शफीकुर्रहमान बर्क की अगुवाई में कई मुस्लिम संगठन सड़क पर उतरे थे। इस दौरान रोडवेज की 3 बसों में आगजनी की गई। पुलिस पर पथराव किया गया। एसपी संभल यमुना प्रसाद ने बताया कि सपा सांसद के अलावा, सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष फिरोज खां, नगर पालिकाध्यक्ष के पति हाजी शकील समेत 17 नामजद और सैकड़ों पर केस दर्ज किया गया। गुरुवार देर रात तक 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

लखनऊ: 200 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया
गुरुवार को हुए बवाल में प्रदर्शनकारियों के हमले में 51 पुलिसकर्मी घायल हुए। पुलिस ने 200 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। 7 केस दर्ज हुए हैं। गुरुवार को लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से वकील नाम के युवक की मौत हो गई थी। मृतक के पिता मोहम्मद शरफुद्दीन ने कहा कि वह अपनी पत्नी की दवा लेने आया था। वापस आते समय गली में भगदड़ हुई तो वह रोड पर आ गया। इसी दौरान उसे गोली लगी। गोली किस तरफ से लगी, यह नहीं पता। वकील ऑटो चलाकर परिवार का भरण पोषण करता था।

आपत्तिजनक पोस्ट वायरल करने पर 13 केस
प्रदेश में कई जिलों में हुए प्रदर्शन मामले में पुलिस ने देर रात तक 3305 लोगों को हिरासत में लिया। वहीं, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के मामले में 13 पर एफआईआर दर्ज की। इनमें 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जबकि, 1786 ट्वीटर पोस्ट और 3037 फेसबुक और 38 यूट्यूब पोस्ट को हटाने के लिए संबंधित कंपनियों से संपर्क किया गया।

इन जिलों में इंटरनेट बंद

उन्नाव, सुल्तानपुर, आगरा, संभल, लखनऊ, मेरठ, सहारनपुर, मऊ, आजमगढ़, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़, प्रयागराज, बागपत, हापुड़, मुजफ्फरनगर, शामली, मुरादाबाद, रामपुर, फिरोजाबाद समेत 20 जिलों में इंटरनेट ठप है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments