Monday, September 27, 2021
Homeझारखण्डझारखंड : रांची और धनबाद में दो घटनाएं: चुनाव ड्यूटी पर छत्तीसगढ़...

झारखंड : रांची और धनबाद में दो घटनाएं: चुनाव ड्यूटी पर छत्तीसगढ़ से आए जवान आपस में लड़े, चार की मौत

रांची/धनबाद. रांची और धनबाद में चुनाव ड्यूटी के लिए छत्तीसगढ़ से आए जवान आपस में लड़ गए जिसमें चार जवानों की मौत हो गई। जबकि तीन जवान घायल हैं। पहला मामला रांची के खेलगांव का है। जबकि दूसरा मामला धनबाद के गोमिया का है।

रांची: सिपाही ने कंपनी कमांडर पर अंधाधुंध फायरिंग की, फिर खुद को भी गोली मारी
चुनाव ड्यूटी में रांची आए छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स रायपुर के चौथे बटालियन के जवान विक्रम आदित्य रजवाड़े ने सोमवार सुबह 6:10 बजे खेलगांव परिसर में कंपनी कमांडर मेलाराम कुर्रे को गोलियों से छलनी कर दिया। फिर खुद को भी गोली मार आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक 59 वर्षीय कंपनी कमांडर ने जवान विक्रम के खिलाफ अनुशासनहीनता और अत्यधिक शराब सेवन की शिकायत की थी, जिस पर जांच जारी थी। इसके बाद से ही दोनों में तनाव चल रहा था। 33 वर्षीय जवान विक्रम ने अंधाधुंध 20 राउंड गोलियां चलाईं। दीवारों से टकराकर छिटकी गोलियों के टुकड़ों से दो अन्य जवान नंद किशोर कुशवाहा और बेनधर ध्रुव भी घायल हो गए। दोनों को इलाज के लिए मेडिका अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। जवान विक्रम ने कंपनी कमांडर मेलाराम को 5 गोलियां मारीं, जबकि अपनी गर्दन में भी उसने तीन गोलियां मारीं। दोनों के शव पोस्टमार्टम के बाद सड़कमार्ग से छत्तीसगढ़ के लिए रवाना कर दिए गए हैं। मामले में प्लाटून कमांडर शेख अयूब के बयान पर खेलगांव थाना में जवान विक्रम आदित्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

प्रत्यक्षदर्शी बोला- कंपनी कमांडर के मरने तक गोलियां चलाता रहा 
घटना के समय बैरक में थोड़ी दूरी पर मौजूद जवान भगत ने बताया कि विक्रम ने कंपनी कमांडर को देखते ही इंसास से हवाई फायर शुरू कर दिया। दीवारों से टकराकर गोलियां इधर-उधर छिटकने लगी। इसमें दो जवान घायल हो गए। कंपनी कमांडर जब तक कुछ समझते तब तक जवान विक्रम ने उन पर गोली चला दी। वे गिरे तो विक्रम ने पास जाकर चार और गोलियां मारी। जब उसे मौत का यकीन हो गया, तब उसने अपनी राइफल से अपनी ही गर्दन में तीन गोलियां मार लीं। उसकी भी मौके पर ही मौत हो गई।

गोमिया: गोली मारकर दाे अफसरों की हत्या, खुद भी घायल 
छत्तीसगढ़ के सुकमा से चुनाव ड्यूटी पर बेरमो विधानसभा क्षेत्र पहुंची सीआरपीएफ की 226 बटालियन के जवान दीपेंद्र यादव ने साेमवार रात अपने दाे अफसराें काे गाेली मारने के बाद खुद काे भी गाेली मार ली। घटना में असिस्टेंट कमांडेंट साहुल हसन और एएसआई सह मेस इंचार्ज पी भुइयां की मौके पर ही मौत हो गई। दीपेंद्र और एक अन्य जवान हरिश्चंद्र गोकाई घायल हैं। घटना रात लगभग 10.30 बजे नक्सल प्रभावित चतरोपट्टी थाना क्षेत्र के कुर्कनालो की है।

कुर्कनालो के ही एक स्कूल में सीआरपीएफ की बटालियन ठहरी हुई थी। वहीं आपसी विवाद के बाद ताबड़तोड़ गोलियां चलीं। घटना के बाद बटालियन में अफरातफरी मच गई। घायल व मृतकों को गोमिया अॉर्डियर हॉस्पिटल लाया गया। वहां बेरमो एसडीओ प्रेम रंजन, एसडीपीओ अंजनी अंजन, सीओ ओमप्रकाश मंडल, बीडीओ मोनी कुमारी समेत गोमिया समेत आसपास के थानों की पुलिस पहुंची। वहां से घायल जवानों को स्वांग लाया गया, जहां से एयरलिफ्ट कर रांची ले जाया गया।

छुट्टी को लेकर शुरू हुआ विवाद, आवेश में चलाने लगा गोली 
बोकारो डीआईजी प्रभात कुमार ने घटना की आरंभिक वजह छुट्टी संबंधी विवाद बताया है। डीआईजी ने बताया कि घटना के प्रारंभिक कारणों में सबसे पहले छुट्टी को लेकर झगड़ा शुरू होने की बात सामने आई है। संभवत: दीपेंद्र ने इसी कारण गोली मारी। बाद में उसने खुद को भी गोली मार ली, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हुआ।

 

केरल के रहने वाले थे असिस्टेंट कमांडेंट हसन 
फायरिंग में जान गंवाने वाले असिस्टेंट कमांडेंट केरल के रहने वाले बताए जा रहे हैं, जबकि मारे गए एएसआई और घायल जवान मूल रूप से कहां के हैं, पुलिस इसकी जानकारी जुटा रही है। बटालियन के साथ आए समादेष्टा अखिलेश कुमार ने इस बाबत कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments