Saturday, September 25, 2021
Homeबिहारबिहार : जदयू नेता अजय आलोक ने प्रशांत को कोरोनावायरस बताया, कहा-...

बिहार : जदयू नेता अजय आलोक ने प्रशांत को कोरोनावायरस बताया, कहा- वे एक पार्टी की बातें दूसरी को बताते हैं, भरोसे लायक नहीं

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को झूठा बताए जाने के बाद जदयू नेता प्रशांत किशोर पर हमलावर हो गए हैं। बुधवार को पार्टी के पूर्व प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक ने प्रशांत को कोरोनावायरस बता दिया। उन्होंने कहा कि प्रशांत नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार का भरोसा नहीं जीत सके। वह आम आदमी पार्टी के लिए काम करते हैं, राहुल गांधी से बात करते हैं और ममता बनर्जी के साथ बैठते हैं। कौन उस पर भरोसा करेगा? हमें खुशी है कि यह कोरोनोवायरस हमें छोड़ रहा है, वह जहां चाहे, वहां जा सकता है।

अजय ने कहा कि प्रशांत किशोर को 2014 में नरेंद्र मोदी ने पहचान दी। वहां से निकाले गए तो नीतीश कुमार के पास चले आए। कहने को हमारी पार्टी का चुनावी मैनेजमेंट देखा। महागठबंधन चुनाव जीता तो उसकी मार्केटिंग कर अपनी कंपनी को देशभर में अलग-अलग पार्टियों के बीच ले गए। शिवसेना, कांग्रेस, आप, और तृणमूल प्रशांत सबके लिए काम कर रहे हैं। ये सब जदयू और नीतीश कुमार की बदौलत कर पा रहे हैं।

अच्छा हुआ, हमारी पार्टी से यह वायरल निकल गया

अजय ने कहा, ”प्रशांत का बाजार अब खराब हो रहा है। ये आदमी विश्वसनीय नहीं है। इनसे काम करा रहीं पार्टियां अब यह सोचेंगी कि ये आदमी हमारी बात दूसरे तक पहुंचाता है। इनका तो चरित्र ही यही है। इनका काउंट-डाउन शुरू हो गया है। अच्छा हुआ कि हमारी पार्टी से यह वायरस निकल गया। यह वायरस जिस पार्टी में रहेगा उसे ही नष्ट करेगा।” नीतीश को झूठा कहने के संबंध में अजय ने कहा कि हमें ऐसे कॉर्पोरेट दलालों से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं।

जरूरत से ज्यादा छलांग मार रहे हैं प्रशांत
अजय ने कहा कि सिर्फ प्रचार करने से वोट नहीं मिलता। सोशल मीडिया पर बकवास करने और नारे लगाने से वोट नहीं मिलता। अगर जनता की इच्छा नहीं होगी तो आप चुनाव नहीं जीत सकते। इसलिए कोई गलतफहमी में नहीं रहे कि ये मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री बनवाते हैं। क्या इन्होंने 2014 में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनवाया? यह आदमी जरूरत से ज्यादा छलांग मार रहा है। एक साल पहले यह आदमी राहुल गांधी को अपरिपक्व कहता है। कहता है कि वह प्रधानमंत्री बनने लायक नहीं हैं। बाद में सीएए के समर्थन में कांग्रेस, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को धन्यवाद देता है।

नीतीश के बयान पर प्रशांत ने कहा था- यह झूठ है

जदयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश ने पटना में मंगलवार को कहा था कि उन्होंने अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल किया था। अब अगर वे जाना चाहते हैं, तो जा सकते हैं। नहीं रहेंगे तो भी ठीक, रहेंगे तो कोई दिक्कत नहीं है। जो पार्टी का बुनियादी ढांचा है उसे अंगीकार करना होगा। नीतीश के बयान पर प्रशांत किशाेर ने कहा था कि आप (नीतीश) मुझे पार्टी में क्यों और कैसे लाए, इस पर इतना गिरा हुआ झूठ बोल रहे हैं। यह आपकी बेहद खराब कोशिश है, मुझे अपने रंग में रंगने की। अगर आप सच बोल रहे हैं तो कौन यह भरोसा करेगा कि अभी भी आपमें इतनी हिम्मत है कि शाह द्वारा भेजे गए आदमी की बात न सुनें? प्रशांत किशाेर ने यह भी कहा था कि वे बिहार आने पर जवाब देंगे। नीतीश की पार्टी जदयू का बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन है। सीएए पर जदयू ने संसद के दाेनाें सदनाें में सरकार का समर्थन किया था। प्रशांत किशोर लगातार सीएए, एनपीआर और एनआरसी का विराेध कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments