Saturday, September 18, 2021
HomeबॉलीवुडCoronavirus से परेशान लोगों पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा, एक्ट्रेस ने...

Coronavirus से परेशान लोगों पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा, एक्ट्रेस ने कहा- ‘बैठ जाओ बेवकूफों…’

कोरोना महामारी की स्थिति भारत में हर दिन खराब होती जा रही है। आलम यह हो गया है अस्पतालों में बेड, दवाइयां, ऑक्सीजन और वैक्सीन खत्म होने लगी है। जिसके चलते लोगों को अब काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं कोरोना वायरस का डर भी लोगों के बीच साफ देखने को मिल सकता है। इन सबके बीच बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट ने कोरोना वायरस से नाराज, हताश और त्रस्त लोगों पर अपना गुस्सा जताया है।

कोरोना महामारी की स्थिति भारत में हर दिन खराब होती जा रही है। आलम यह हो गया है अस्पतालों में बेड दवाइयां ऑक्सीजन और वैक्सीन खत्म होने लगी है। जिसके चलते लोगों को अब काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

कंगना रनोट सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर खुलकर बोलती रहती हैं। वह सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहती हैं। इसके जरिए वह हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय भी रखती रहती हैं। कंगना रनोट ने सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस की मार झेल रहे लोगों पर अपना गुस्सा जाहिर किया है और उन्हें इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। साथ ही कंगना रनोट ने उन्हें मुर्ख भी बताया है।

अभिनेत्री ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘वर्तमान स्थिति से जो भी नाराज, हताश और त्रस्त है, वह खुद ही उसका जिम्मेदार और हकदार है। अगर सूरज ने न चमकने का फैसला किया, तो इसका उसे आपको कोई स्पष्टीकरण नहीं देना चाहिए। यह धरती जिसने आपको पोषित किया और यही माता आप के लिए अचानक दुश्मन हो गई। वह आपको स्पष्टीकरण नहीं देना चाहती। मूर्खों तुम शांत रहो।’

कंगना रनोट यहीं नहीं रुकीं उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ‘पृथ्वी आपके लिए अपनी धुरी पर नहीं चलती, सूरज आपकी मूर्ख मुद्रा के लिए नहीं चमकता है। मैक्रोकॉस्म में भी यह पृथ्वी एक परमाणु की तरह है, जो इस विशाल ब्रह्मांड में आपकी जिंदगी की परवाह करता है? चाहे हमें जीवन मिले या मौत, केवल वैध भावनाओं के लिए आभार है, बैठ जाओ बेवकूफों।’

इससे पहले कंगना रनोट दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधने की वजह से चर्चा में थीं। कंगना ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में कंगना ने लिखा, ‘इन शॉर्ट, बचाओ बचाओ बचाओ…. मोदी जी बचाओ…. हमने जितना रायता फैलाना था फैला दिया है…. अब आप इसे साफ करो… ये रहा रायता और ये आपकी दिल्ली, सम्भालो। हाहा… घुमा फिरा की बोलने से सिर्फ बात बदल सकती है उसका मतलब नहीं।’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments