Tuesday, September 28, 2021
Homeकोरोना अपडेटचंडीगढ़ में बढ़ेगी कोविड टेस्टिंग की क्षमता:GMCH-32 में बनी अलग RT-PCR लैब

चंडीगढ़ में बढ़ेगी कोविड टेस्टिंग की क्षमता:GMCH-32 में बनी अलग RT-PCR लैब

चंडीगढ़ में अब तक PGI और GMCH-32 में ही कोविड टेस्टिंग के लिए RT-PCR की सुविधा है। GMCH-32 की बात करें तो यहां कोविड टेस्टिंग के लिए अलग से कोई लैब नहीं थी, लेकिन यहां पिछले एक साल से कोरोना की टेस्टिंग की जा रही थी। GMCH-32 में अब कोविड टेस्टिंग के लिए अलग से यहां डेडिकेटेड RT-PCR लैब बनाई गई है, जिसमें जल्द ही टेस्टिंग शुरू हो जाएगी। लैब का सिविल वर्क लगभग पूरा हो चुका है और फिलहाल यहां बायोसेफ्टी को लेकर काम चल रहा है। भारत सरकार के फंडेड प्रोजेक्ट के तहत 35 लाख रुपए की लागत से इस लैब को तैयार किया गया है। यहां एक दिन में 1500 टेस्ट होंगे।

GMCH-32 में अभी तक कोविड टेस्टिंग के लिए अलग से कोई लैब नहीं थी।

 

माइक्रोबायोलॉजी की हेड डॉ. वर्षा गुप्ता के मुताबिक फिलहाल अस्पताल में रोज करीब 700 टेस्ट हो रहे हैं। हालांकि कोविड केस कम हो गए हैं लेकिन टेस्टिंग कम नहीं हुई है। अस्पताल में टेस्ट करवाने आने वाले लोगों के अलावा स्वास्थय विभाग से भी सैंपल यहां टेस्टिंग के लिए आते हैं। नई लैब का फायदा यह होगा कि टेस्टिंग डबल हो जाएगी। अभी 700 टेस्ट हो रहे हैं और नई लैब के बाद टेस्टिंग 1400 से 1500 हो जाएगी। कोरोना की तीसरी लहर को लेकर ये एक बड़ा कदम है जो जरूरी भी हो गया था।

स्वाइन फ्लू लैब में हो रही कोरोना टेस्टिंग

बता दें कि कोविड टेस्टिंग के लिए हाई इक्विपमेंट लैब चाहिए और उसी को ध्यान में रखते हुए नई लैब को तैयार किया गया है। डॉ. वर्षा के मुताबिक जिस वक्त कोविड की शुरुआत हुई थी, तब अस्पताल की स्वाइन फ्लू लैब में टेस्टिंग शुरू की गई थी, जोकि अभी भी जारी है। वे चाहकर भी टेस्टिंग नहीं बढ़ा पा रहे थे और इसके लिए नई लैब की जरूरत थी। नई लैब बनने से न सिर्फ स्टाफ का बोझ कम होगा बल्कि मरीजों को भी अपनी रिपोर्ट्स के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

GMSH-16 के पास भी जल्द होगी अपनी लैब

दूसरी ओर GMSH-16 में भी कोविड टेस्टिंग के लिए अभी तक कोई लैब नहीं है। अस्पताल में कलेक्ट किए गए सैंपल्स को टेस्टिंग के लिए PGI और GMCH-32 में भेजा जाता है। अब अगले 2 महीने में GMSH-16 में भी कोविड टेस्टिंग के लिए डेडिकेटेड लैब तैयार हो जाएगी। इससे अस्पताल अपने यहां कलेक्ट सैंपल्स की टेस्टिंग वहीं कर सकेगा और मरीजों को ज्यादा देर तक रिपोर्ट के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments