Thursday, September 23, 2021
Homeखेलमार्क वुड की चोट ने बढ़ाई इंग्लिश टीम की चिंता, तीसरे टेस्ट...

मार्क वुड की चोट ने बढ़ाई इंग्लिश टीम की चिंता, तीसरे टेस्ट में भारत को मिलेगा फायदा

इंग्लैंड की टीम को भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में उतरने से पहले एक जोरदार झटका तेज गेंदबाज मार्क वुड के रूप में लगा। इसी के कारण इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी कमजोर पड़ गई है, क्योंकि टीम के पास पहले से ही जोफ्रा आर्चर और स्टुअर्ट ब्राड नहीं हैं। ऐसे में मार्क वुड का भी तीसरे टेस्ट से बाहर होना इंग्लैंड के लिए बड़ी परेशानी है। 31 वर्षीय तेज गेंदबाज मार्क वुड को दाएं कंधे में लार्ड्स में दूसरे टेस्ट के दौरान चोट लगी थी।

भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच से बाहर हुए मार्क वुड के कारण इंग्लैंड की टीम मुश्किल में है क्योंकि टीम के पास उनके जैसा कोई तेज गेंदबाज नहीं है जो अपनी गति से भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करे क्योंकि कई और गेंदबाज पहले से चोटिल हैं।

इंग्लैंड के पास मौजूदा समय में सबसे तेज गति से गेंदबाजी करने वाल मार्क वुड ही हैं, लेकिन वे तीसरे टेस्ट मैच में उपलब्ध नहीं होंगे। वहीं, टीम के कप्तान जो रूट ने प्रेस वार्ता में कहा, “यह मार्क वुड के लिए और हमारे लिए एक पक्ष के रूप में निराशाजनक है – वह हमें अंतर का एक वास्तविक बिंदु देता है।” मार्क वुड ही नहीं, बल्कि स्टुअर्ट ब्राड, जोफ्रा आर्चर, ओली स्टोन और क्रिस वोक्स भी चोट के कारण टीम से बाहर हैं, जबकि आलराउंडर बेन स्टोक्स उपलब्ध नहीं हैं।

90 मील प्रति घंठा की रफ्तार से लगातार गेंदबाजी के लिए जाने-जाने वाले मार्क वुडे, ओली स्टोन और जोफ्रा आर्चर को लेकर जो रूट ने कहा, “मैं वास्तव में उन तीन खिलाड़ियों के लिए बुरा महसूस करता हूं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि जब ये तीनों वापस आएंगे और तैयार होंगे, तो वे इंग्लिश क्रिकेट के लिए अद्भुत चीजें करेंगे और समय के साथ एक बड़ा प्रभाव डालेंगे। यह उनके लिए किसी और से ज्यादा निराशाजनक है।”

या तो साकिब महमूद या क्रेग ओवरटन – दोनों पहले से ही टीम में हैं, जिनमें से कोई एक प्लेइंग इलेवन में वुड की जगह ले सकता है। ओवरटन ने अब तक चार टेस्ट खेले हैं, जबकि महमूद ने सात एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में इंग्लैंड के लिए 14 विकेट लिए हैं। रूट ने हालांकि संकेत दिया कि 24 वर्षीय महमूद टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर सकते हैं। रूट ने कहा, “साकिब संभावित रूप से टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए इससे बेहतर जगह पर नहीं हो सकते।”

इंग्लैंड के पास अपने प्रमुख तेज गेंदबाज नहीं हैं। ऐसे में 1-0 से इस पांच मैचों की सीरीज में आगे चल रही टीम इंडिया के पास बढ़त को मजबूत करने का मौका होगा, क्योंकि इंग्लैंड की टीम जेम्स एंडरसन की अगुवाई में उतरेगी। एंडरसन लय में हैं, लेकिन ये भी देखना दिलचस्प होगा कि दूसरे छोर से उनकी कितनी मदद मिलती है और क्या इसका फायदा भारतीय टीम उठा पाएगी, क्योंकि इंग्लैंड की बल्लेबाजी भी काफी कमजोर है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments