मेड़ता : 50 लाख का बीमा क्लेम लेने के लिए पत्नी ने किया पति का मर्डर

0
21

बीमा क्लेम उठाने की लालच में पत्नी ने अपने ही पति का मर्डर कर दिया। यही नहीं, प्रॉपर्टी हड़पने के लिए वह टॉर्चर करती थी और तीन साल पहले करीब 50 लाख की जमीन अपने नाम करा भी लिया था।मारपीट कर उसने पति के पैर भी तोड़ डाले। मामला नागौर जिले के मेड़ता थाना क्षेत्र के कुरड़ाया गांव का है। पुलिस हत्यारी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अपना अपराध कबूल किया है। परिजनों का आरोप है कि 50 लाख रुपए का बीमा क्लेम लेने के लिए ही महिला ने हत्या की है। वह अक्सर अपने पति को टॉर्चर करती थी। बताते हैं कि नेमाराम माकड़ का अपनी ही पत्नी शारदा में तीन साल से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था। दोनों के एक बेटा और बेटी हैं। 3 महीने पहले ही शारदा ने पति के नाम से 30 लाख रुपए का इंश्योरेंस कराया था। बेटे के लिए एक पिकअप भी ली थी, जिसका 20 लाख रुपए का फाइनेंस कराया गया था।

3 साल पहले शारदा ने नेमाराम की 15 बीघा जमीन अपने नाम करा भी ली थी। इसके बाद से वह उसे मारने की साजिश कर रही थी। दोनों के बीच विवाद होता रहता था। पुलिस ने बताया कि मंगलवार दोपहर 12 बजे के करीब नेमाराम शराब पीकर घर पहुंचा था। शारदा ने टोका तो दोनों के बीच कहासुनी हो गई। मामला इतना बढ़ गया कि नेमाराम ने पत्नी की पिटाई कर दी। पत्नी को पीटते-पीटते वह अचेत हो गया। इस बीच शारदा ने गला दबाकर नेमाराम को मार डाला।शारदा ने टोका तो दोनों के बीच कहासुनी हो गई। मामला इतना बढ़ गया कि नेमाराम ने पत्नी की पिटाई कर दी। पत्नी को पीटते-पीटते वह अचेत हो गया। इस बीच शारदा ने गला दबाकर नेमाराम को मार डाला।

तीन महीने पहले शारदा ने पति नेमाराम के नाम से ट्रैक्टर और पिकअप के लिए 20 लाख रुपए का कर्ज लिया था। नए व्हीकल घर में आए तो रोली-मोली लगाकर घर में खुशियां मनाई गई थीं। पर नेमाराम को कहां पता था कि 28 साल के वैवाहिक जीवन के बाद उसके खिलाफ इतनी बड़ी साजिश रची जा रही है। परिजनों का आरोप है कि शारदा अपने पति का मर्डर करना चाहती थी इसलिए उसने नेमाराम के नाम से 30 लाख रुपए का बीमा भी कराया था। पति को ठिकाने लगाकर क्लेम उठाने की पूरी प्लानिंग की गई। रदा तीन साल मेड़ता में रही थी। उसने मेड़ता में रहने के दौरान ही अपने पति को पीटकर टांग तोड़ दी थी। यहां दो-तीन साल रहने के बाद दंपती अपने गांव चला गया था। करीब दो सालों से अपने गांव ही रह रह रहा था।आरोपी पत्नी का पीहर भी कुरड़ाया गांव में ही है और उसका ससुराल भी। शारदा ने बेटे के चलाने के लिए ही ट्रैक्टर और पिकअप ली थी

नेमाराम के भाइयों और बाकी परिवार रिश्तेदारों को मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया। परिवार ने भी इस बात को मान लिया, लेकिन अंत्येष्टि से पहले नेमाराम के शरीर पर चोटों के गहरे निशान देखकर सभी चौंक गए। इसके बाद परिजनों ने शारदा से पूछा तो बताया कि एक दिन पहले ही बाइक से गिर गए थे, लेकिन गले के चारों तरफ गहरे घाव ने पोल खोल दीपरिजनों ने अंत्येष्टि तो कर दी, लेकिन नेमाराम के जख्मों की फोटो ले ली। मृतक के बड़े भाई कुरड़ाया निवासी भाकरराम (60) पुत्र बालूराम जाट ने हत्या की आशंका जताते हुए थाने में मामला दर्ज कराया। शिकायत मिलने पर पुलिस ने शारदा से पूछताछ की और उसे गिरफ्तार कर लिया।सीआई रोशन सिंह सामरिया ने बताया, ‘कुरड़ाया में एक दाह संस्कार हुआ था। अंत्येष्टि होने के बाद हमें जानकारी मिली कि मृतक नेमाराम के साथ मारपीट हुई थी, उसके शरीर पर चोटें थीं। हम गांव में गए और जानकारी ली तो पता चला कि उसकी पत्नी ने ही आपसी लड़ाई-झगड़े के दौरान मारपीट करके पति की हत्या कर दी। थाने में मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू की गई है। हमने आरोपी पत्नी को गिरफ्तार किया है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here