Friday, September 24, 2021
Homeपंजाबमिग-21 क्रैश:स्क्वॉड्रन लीडर अभिनव ने जान पर खेलकर बचाई सैकड़ाें लोगों की...

मिग-21 क्रैश:स्क्वॉड्रन लीडर अभिनव ने जान पर खेलकर बचाई सैकड़ाें लोगों की जिंदगी

मोगा जिले के गांव लंगेआना कलां व लंगेआना खुर्द की सीमा में भारतीय वायु सेना के मिग-21 लड़ाकू विमान क्रैश हाेने से स्क्वॉड्रन लीडर शहीद हो गया, परंतु आस-पास के लोग उसकी सूझ-बूझ की दाद दे रहे हैं। लोगों का कहना है कि पायलट की सूझ-बूझ से ही प्लेन को खेतों में गिरा, वरना थोड़ी दूरी पर ही लोगों के घर थे।

जलता हुआ हादसाग्रस्त मिग-21 विमान।

अगर विमान गांव में गिरता तो सैकड़ाें लोगों की जाने जा सकती थी। जहां विमान गिरा उससे आधा किलोमीटर दूर लंगेआना खुर्द व 1 किलोमीटर लंगेआना कलां गांव है। हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि स्क्वॉड्रन लीडर पैराशूट की मदद से सेफ उतर रहा था परंतु अंतिम पल में तेज हवा से उल्टा हो जाने से उसका सिर विमान की किसी भारी वस्तु से टकराने से उसकी मौत हो गई।

यहां बता दें कि भारतीय वायु सेना में 29 वर्षीय अभिनव चौधरी इस विमान को चला रहा था। यह उसकी लड़ाकू जहाज की ट्रेनिंग उड़ान थी, जो उसने पंजाब के हलवारा एयर बेस से भरी थी और उसे विमान को राजस्थान के सूरतगढ़ एयरबेस तक ले जाना था परंतु दुर्भाग्य से उसका विमान मोगा जिले में क्रैश हो गया।

तेज धमाका होने पर जुटे क्षेत्र के लोग

प्रत्यक्षदर्शी गांव निवासी हरमनजोत सिंह ने बताया कि विमान जब गिरा तो तेज धमाका हुआ। वह और अन्य गांव निवासी बाहर आये तो खेतों में कोई वस्तु धू-धू कर जल रही थी। देखने में विमान लग रहा था और काेई चीज आकाश से नीचे आ रही थी, शायद वह पायलट रहा होगा।

समाजसेवी नवीन सिंगला ने कहा कि शहीद पायलट अभिनव चौधरी की शहीदी को वह सलाम करते हैं, जिसने सूझ बूझ से विमान को गांवों के आने पहले ही धरती पर गिरा दिया। उसने सैकड़ों लोगों की जान बचाने की खातिर खुद की जान की भी परवाह नहीं की। ऐसे वीर सपूत को कोटि-कोटि प्रणाम है।

वहीं आधी रात को पुलिस अधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंच गए थे। उन्होंने इलाके को सील कर दिया और मोगा से फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी वहीं पहुंच कर आग पर काबू पाने लगीं। वहीं पुलिस अधिकारी पायलट को खोजते रहे लेकिन वह तीन घंटे बाद मिला और तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

सामाजिक बुराइयों के खिलाफ भी लड़ने वाले अभिनव दहेज प्रथा के खिलाफ थे

यूपी के मेरठ के रहने वाले अभिनव चौधरी ने एनडीए में पढ़ाई करके एयर फोर्स को ज्वाइन किया था। सामाजिक बुराइयों से लड़ने वाला अभिनव दहेज प्रथा के भी खिलाफ था। फुर्तीला व तेज तर्रार अभिनव अपने पीछे माता-पिता व पत्नी को छोड़ गया, जिससे दो साल पहले ही उसकी शादी हुई थी।गांव निवासियों ने कहा कि युवा अभिनव सैकड़ों लोगों को बचा कर एक मिसाल बन गया है, जिसे लोग सदैव याद रखेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments