तेलंगाना की राज्यपाल से मिलीं विधायक राजा सिंह की पत्नी

0
29

जेल में बंद भाजपा से निलंबित विधायक टी. राजा सिंह की पत्नी उषा बाई ने अपने पति पर लगाए गए निवारक निरोध (पीडी) अधिनियम को रद्द करने के लिए तेलंगाना की राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग की है। साथ ही उन्होंने तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन को ज्ञापन भी सौंपा है। उन्होंने राज्यपाल से राज्य सरकार को उनके खिलाफ लगाए गए पीडी अधिनियम को रद्द करने और यह सुनिश्चित करने का निर्देश देने का अनुरोध किया कि उन्हें जेल से रिहा किया जाए।दरअसल, विधायक की पत्नी उषा बाई ने राजा सिंह की बहनों के साथ राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात की और एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने निराधार आरोपों पर विधायक के खिलाफ मामला दर्ज किया और उनके साथ अन्याय किया है। राजा सिंह की पत्नी ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस पूछताछ के नाम पर उनके समर्थकों को परेशान कर रही है। राजा सिंह की पत्नी ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार राजा सिंह को उनकी ‘जनविरोधी नीतियों और गतिविधियों’ पर सवाल उठाने के लिए निशाना बना रही है। उषा ने राज्यपाल को बताया कि पुलिस ने उनके पति के खिलाफ भड़काऊ टिप्पणियों और बयानों के लिए मामले दर्ज किए थे, जिन पर निर्वाचित प्रतिनिधियों के लिए गठित विशेष अदालत में मुकदमा चलाया गया था। उन्होंने दावा किया कि सरकार ज्यादातर मामलों में आरोप साबित करने में विफल रही है।

बता दें कि भाजपा से निलंबित विधायक पर पीडी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था और 25 अगस्त को पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में जेल भेज दिया गया था। पुलिस के मुताबिक, राजा सिंह के खिलाफ 101 आपराधिक मामले दर्ज हैं। 18 सांप्रदायिक अपराधों में भी उनका नाम दर्ज है। पुलिस ने कहा कि राजा सिंह आदतन भड़काऊ भाषण दे रहे हैं और समुदायों के बीच अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैंराजा सिंह की पत्नी ने अपने पति के खिलाफ हैदराबाद पुलिस द्वारा लगाए गए पीडी अधिनियम को चुनौती देते हुए तेलंगाना उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की है। राजा सिंह हैदराबाद के गोशामहल निर्वाचन क्षेत्र से तेलंगाना विधान सभा के सदस्य हैं। पिछले महीने एक यूट्यूब चैनल पर आपत्तिजनक वीडियो अपलोड करने के बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here