मॉब लिंचिंग : ओवैसी की पार्टी के लोगों पर महिलाओं को रेप और बम से उड़ाने की धमकी देने का आरोप, रिपोर्ट

0
16

सरायकेला. सरायकेला के धातकीडीह गांव में माॅब लिंचिंग की घटना के बाद जेल में तबरेज अंसारी की माैत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गांव के लाेग काफी दहशत में हैं। गांव की ममता के नेतृत्व में 34 महिलाओं ने सरायकेला थाने में मामला दर्ज कराया है। प्राथमिकी के अनुसार 24 जून शाम कुछ अज्ञात लाेग चारपहिया वाहन से गांव पहुंचे और महिलाओं को गालियां देने लगे।

आरोपियों ने घर में घुसकर महिलाओं के साथ दुष्कर्म व लूटपाट करने के साथ बम से उड़ा देने की धमकी दी। वे लाेग जिस वाहन से आए थे, उस पर एआईएमआईएम पार्टी का बोर्ड लगा हुआ था। जाने के दाैरान उनलाेगाें ने पास के मंदिर में लगे ध्वज को क्षतिग्रस्त कर दिया और आफताब अहमद सिद्दीकी जिंदाबाद, असदुद्दीन ओवैसी जिंदाबाद के नारे भी लगाए। महिलाओं ने बताया कि उनके जाने के बाद से गांव के लाेग और दहशत में आ गए हैं। डर के गांव के सभी पुरुष घर छोड़कर पलायन कर चुके हैं।

बीते 17 जून की घटना के बाद समाज के कुछ तथाकथित ठेकेदार और संगठन उसे अलग रंग देने का प्रयास कर रहे हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से तरह-तरह की बातें सामने आ रही हैं। पुलिस की धर-पकड़ के खौफ और दहशतगर्दो के डर से गांव के पुरुष छिपते चल रहे हैं। क्षेत्र के बुद्धिजीवियाें ने पुलिस से सोशल मीडिया पर आ रही खबराें काे गंभीरता से लेने की मांग की है। कहा है कि साेशल मीडिया पर आ रहीं भड़काऊं बाताें पर गाैर करते हुए पुलिस काे ऐसे लाेगाें काे चिह्नित कर कार्रवाई करनी चाहिए। इसके माध्यम से वीडियो वायरल करने और पीड़ितों काे एडिट किए जाने की बातें भी सामने आ रही हैं।

भाजपाई बाेले- दोनों पक्षों को भड़का रहे बाहरी लोग, गांव में प्रवेश से रोके

जिला भाजपा अध्यक्ष उदय सिंहदेव ने धातकीडीह गांव का दौरा किया। उन्होंने पुलिस-प्रशासन से निर्दोषों पर की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की। पुलिस सोशल मीडिया पर वायरल हाे रही खबराें के सभी पहलुओं की छानबीन करते हुए गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाए।
कांग्रेस महिला मोर्चा का आरोप- सरकार के संरक्षण में हो रही ऐसी गतिविधियां

कांग्रेस महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष गुंजन सिंह सरायकेला पहुंचीं और धातकीडीह गांव के बारे में जानकारी ली। राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सरकार के संरक्षण में ऐसी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिससे प्रदेश में आए दिन घटनाएं घट रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here