Tuesday, September 28, 2021
Homeराज्यगुजरातगुजरात : राजकोट में एक दिन की मासूम के शरीर पर धारदार...

गुजरात : राजकोट में एक दिन की मासूम के शरीर पर धारदार हथियार के 20 से अधिक घाव

राजकोट. शहर में दिल दहला देने वाली घटना हुई है। ठेबचडा गांव के पास बुधवार की सुबह 11 बजे लगभग 20 युवक क्रिकेट खेलकर जा रहे थे, तभी उन्हें बच्ची की रोने की आवाज सुनाई दी। उन्होंने नजरें दौड़ाई तो एक कुत्ता बच्ची को मुंह में लेकर जा रहा था। युवकों बगैर देर किए तुरंत पत्थरबाजी की, तो कुत्ता बच्ची को छोड़कर चला गया। विपुल रैयाणी नामक युवक के फोन पर 108 तुरंत दौड़कर पहुंची और बच्ची को राजकोट के टी चिल्ड्रन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

कलेजे के टुकड़े को लावारिस छोड़ा
अस्पताल में हुई जांच से पता चला कि किसी प्रसूता ने अपना पाप छुपाने के लिए बच्ची को जन्म देकर दूसरे ही दिन लावारिस हालत में छोड़ दिया। बच्ची के पेट के हिस्से पर जो घाव देखे गए वह किसी खड्डे में पड़े रहने के स्पष्ट हो रहे थे। लेकिन डॉक्टरों ने बच्ची की जांच की तो वे भी एक पल के लिए चौंक उठें। बच्ची के बगल और पीठ के हिस्से पर जो घाव के निशान थे वह किसी धारदार हथियारों के थे। पीडियाट्रिक सर्जन जयदीप गणात्रा ने बताया कि बच्ची को धारदार हथियार के 15 से 20 घाव आए हैं और उसका इलाज चल रहा है।

हमने मासूम का तुरंत इलाज किया
108 की ईएमटी दिव्या बारड ने बताया कि बच्ची को एक खाट पर सुलाया गया। उसके शरीर पर कुत्ते के काटने के निशान थे। पर जब उसकी पीठ देखी गई, तो पता चला कि उस पर तेज धारदार हथियार से वार किया गया है। हमने तुरंत बच्ची का इलाज किया। उसके मुंह में धूल थी, हमने उसे साफ किया। फिर बेबी कवर में ढांककर लाइट चालू कर इलाज किया।

पुलिस जांच कर रही है
प्रसूता को ईश्वर का रूप माना जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि ईश्वर हर जगह नहीं पहुंच सकता इसलिए मां को बनाया गया है। लेकिन राजकोट में एक दिन की बच्ची के साथ बनी घटना समाज की चेतना का दिल दहला सकती है ऐसी है। किस संयोग में मां ने इस बच्ची को छोड़ा होगा अथवा किसलिए बच्ची के साथ ऐसा बर्ताव किया गया होगा यह पुलिस जांच के बाद ही स्पष्ट होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments