इसके साथ ही कुल मरीजों की संख्या एक करोड़ 39 लाख 16 हजार 543 हो गई है। कोरोना से ग्रस्त 1,00,226 मरीज अस्पताल में भारती हैं। ऐसा पहली बार हुआ है कि इनकी संख्या एक लाख से ज्यादा हुई है। यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के निदेशक रॉबर्ट रेडफील्ड ने बुधवार को एक वर्चुअल इवेंट में कहा कि वास्तविकता में दिसंबर, जनवरी और फरवरी देश के सार्वजनिक स्वास्थ्य इतिहास में सबसे कठिन समय होने वाला है।

दुनियाभर में कोरोना के छह करोड़ 42 लाख से ज्यादा मामले

बता दें कि दुनियाभर में कोरोना के छह करोड़ 42 लाख से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं और लगभग 15 लाख लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। यहां सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं और लोगों की मौत हुई है। अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा मौतें ब्राजील में हुई हैं। यहां अब तक एक लाख 74 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। वहीं 64 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। अमेरिका के बाद कोरोना के सबसे ज्यादा मामले भारत में सामने आए हैं। यहां  95 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो गए हैं। वहीं एक लाख 38 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा रूस में 23 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं और 41 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।