Thursday, September 23, 2021
Homeकोरोना अपडेटराज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक 55 करोड़ 73 लाख...

राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक 55 करोड़ 73 लाख से अधिक कोरोना वैक्सीन दी

राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को अबतक 55.73 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक प्रदान की जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा टीकाकरण के आंकड़े पेश कर बताया गया कि 10 लाख, 37 हजार, 990 (1,00,37,990) खुराक पाइप लाइन में हैं। कुल 53 करोड़, 26 लाख, 3653 हजार (53,26,03,653) खुराकों को इस्तेमाल में लिया जा चुका है।

राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को अबतक 55.73 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक प्रदान की जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा टीकाकरण के आंकड़े पेश कर बताया गया कि 10 लाख 37 हजार 990 (10037990) खुराक पाइप लाइन में है।

केंद्र सरकार पूरे देश में तेजी से कोविड-19 टीकाकरण अभियान चला रही है। 21 जून से कोविड-19 टीकाकरण के नए चरण की शुरुआत हुई है। शनिवार को सुबह 8 बजे तक के सभी आंकड़ों को पेश करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सभी स्रोतों के माध्यम से अब तक राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को 55.73 करोड़ से अधिक वैक्सीन खुराक प्रदान की जा चुकी हैं और आगे 1,00,37,990 खुराक पाइपलाइन में हैं। वहीं 2 करोड़ 85 लाख से अधिक खुराक अभी भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों व निजी अस्पतालों के पास उपलब्ध हैं, जिन्हें इस्तेमाल किया जाना है।

टीके की खुराक                    ‌ (14 अगस्त 2021 तक के आंकड़े)

आपूर्ति                                    ‌ 55,73,55,480

पाइपलाइन में                           1,00,37,990

खपत  ‌                                     53,26,03,653

शेष उपलब्ध  ‌                            2,85,43,781

भारत सरकार राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में, राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त में COVID-19 टीके उपलब्ध कराकर उनका समर्थन कर रही है। चुकीं सरकार का लक्ष्य है, जल्द से जल्द देशवासियों को सुरक्षित कर कोविड-19 टीकाकरण लगाया जाए, जिसके तहत कोविड 19 टीकाकरण अभियान के नए चरण में, केंद्र सरकार देश में वैक्सीन निर्माताओं द्वारा उत्पादित किए जा रहे टीकों का 75% राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को खरीद और आपूर्ति (मुफ्त) करेगी

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments