देश में नमूनों की जांच की संख्या 15 करोड़ के पार

कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए देश में नमूनों की जांच की संख्या 15 करोड़ को पार कर गई है। आखिरी के एक करोड़ से ज्‍यादा परीक्षण पिछले 10 दिनों के दौरान किए गए। ज्यादा जांच होने से संक्रमण की दर कम करने में मदद मिली है। सक्रिय मामलों की संख्या में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में लगातार 12 दिनों से कोरोना वायरस संक्रमण के 40,000 से कम नए मामले सामने आ रहे हैं।

कोरोना टेस्ट किट के लिए सीएसआइआर-सीसीएमबी व अपोलो में करार

कोरोना टेस्‍ट में आने वाले दिनों और बढ़ोतरी की उम्‍मीद है। सीएसआइआर-सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्युलर बायोलॉजी (सीसीएमबी) तथा अपोलो हॉस्पिटल ने गुरुवार को संयुक्त रूप से कोरोना रैपिड टेस्ट किट के निर्माण और उसके व्यवसाय के लिए समझौता करने का एलान किया। इस आशय के एक संयुक्त बयान में कहा है कि सीसीएमबी तथा अपोलो हॉस्पिटल एंटरप्राइज कोरोना जांच के लिए डायरेक्ट एम्पलीफिकेशन रैपिड आरटी-पीसीआर (डीएआरआरटी-पीसीआर) के निर्माण और व्यवसाय के लिए सहयोग करेंगे। इस टेस्ट किट का विकास सीएसआइआर-सीसीएमबी ने किया है। कोरोना की तेजी से जांच के लिए सुरक्षित तथा किफायती यह किट देशभर में अपोलो हॉस्पिटल नेटवर्क के जरिये उपलब्ध होगा।