Sunday, September 26, 2021
Homeचंडीगढ़मां गई थी भाई को राखी बांधने, लौटी तो बेटे ने कमरे...

मां गई थी भाई को राखी बांधने, लौटी तो बेटे ने कमरे में लगा रखा था फंदा

चंडीगढ़ के मौलीजागरां में एक नाबालिग ने उस समय फंदा लगा कर आत्महत्या कर लिया, जब उसकी मां अपने भाई के घर पर राखी बाधने के लिए गयी थी। मां भाई के घर से वापस आकर देखा तो घर के अंदर नाबालिग फंदे से लटका हुआ था। जिसकी सूचना मौलीजागरां पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने फंदे से निचे उतार कर सेक्टर-32 स्थित सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया। जहां पर मौजूद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की पहचान 16 साल के नाबालिग के रूप में हुई है। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस ने शव को सेक्टर-32 के अस्पताल में रखवा दिया है। जहां पर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। पुलिस से मिली जानकारी अनुसास मृतक नाबालिग सब्जी बेचने का काम करता था। उसकी मां अपने भाई को राखी बांधने के लिए गई थी। जब उसकी मां वापस घर पहुंची तो दरवाजा बंद था। खटखटाया तो किसी ने दरवाजा नहीं खोला। मां ने पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़ा। अंदर गए तो पाया कि नाबालिग ने फंदा लगाया हुआ है। जिसके बाद मालमे की सूचना पुलिस को दी गई।

जीजा को सालों ने पीटाकेस दर्ज

वहीं दूसरी तरफ मौली गांव के मकान नंबर 62 निवासी तरलोचन सिंह ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है कि मॉडर्न कॉम्प्लेक्स के ठाकुरद्वारा मंदिर के पास खड़ी पत्नी और बेटे से बात कर रहा था। इसी दौरान उसकी पत्नी के भाइयों के अलावा एक अन्य व्यक्ति ने उस पर रॉड से हमला कर दिया। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तरलोचन का कहना है कि उसकी 2008 में एक मुस्लिम युवती से शादी के हुई थी। शादी से उनका एक बेटा भी है बाद में उसकी पत्नी ने उसका धर्म परिवर्तन करवाने का प्रयास किया। इसकी शिकायत पुलिस में दी और मामला न्यायालय में चल रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments