Tuesday, September 28, 2021
Homeहरियाणादो बहनों से दरिंदगी के बाद हत्या, पकड़े जाने के डर से...

दो बहनों से दरिंदगी के बाद हत्या, पकड़े जाने के डर से पिलाया जहर

कुंडली थाना क्षेत्र के एक गांव में दो बहनों की गैंगरेप के बाद हत्या करने के मामले में पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। कुंडली थाना पुलिस ने तूड़े के एक कोठड़े से उस जहरीली दवाई का डिब्बा बरामद कर लिया है, जो दोनों बहनों को जहर पिलाने के बाद तूड़े के ढेर में दबा दिया था। पुलिस ने आरोपियों को बुधवार सुबह कोर्ट में पेश किया, जहां से 5 दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

कुंडली थाना पुलिस ने दो सगी बहनों के साथ गैंगरेप करने व उन्हें जहर देकर मारने के आरोपी अरुण कुमार, फूलचंद, दुखन व रामसुहाग को कोर्ट में पेश किया, जहां से चारों आरोपियों को 5 दिन के रिमांड पर लिया गया। पुलिस रिमांड के पहले दिन पुलिस आरोपियों को लेकर घटनास्थल पर पहुंची।

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने दोनों बहनों को धान की फसल में कीटनाशक का छिड़काव करने वाली दवाई पिलाई थी। दवाई पिलाने के बाद उन्होंने डिब्बा को तूड़े के ढेर में दबा दिया था। पुलिस ने आरोपियों के कमरे के बगल के तूड़े के कमरे से जहरीली दवाई का डिब्बा बरामद कर लिया है। पुलिस ने क्राइम सीन भी दोहराया है।

मां के बयान बदलने से खत्म हो गया था डर

चारों हत्यारोपियों ने बताया कि उनका इरादा लड़कियों को मारने का नहीं था। वे केवल रेप करने के लिए उनके कमरे में घूसे थे। दोनों बहनें दुष्कर्म के बाद जोर-जोर से चिल्लाने लगी थीं। उन्हें पकड़े जाने का डर था। इसी वजह से उन्होंने बगल के कमरे में रखे जहरीली दवाई के डिब्बे को खोलकर उन्हें जहर पिला दिया, जिससे उनकी मौत हो गई।

वे लड़कियों की मौत के बाद बिहार के दरभंगा भागने की सोच रहे थे, लेकिन लड़कियों की मां ने पुलिस के सामने सांप के काटने का बयान दे दिया, जिससे उनके अंदर का डर निकल गया और उन्हें लगा कि अब उनका कुछ नहीं बिगड़ सकता। इसी वजह से वे कमरे पर आ गए। उन्होंने लड़कियों की मां से उनके बेटों की हत्या करने की धमकी दी थी। पुलिस आरोपियों से अभी और पूछताछ कर रही है।

मां हाथ जोड़कर बोली- मेरी बेटियों ने तड़प- तड़प कर दम तोड़ा है, चारों को चौराहे पर फांसी दे दो

दो बेटियों को खो चुकी पीड़ित महिला कुंडली थाना के एसएचओ रवि कुमार से मिली। महिला ने हाथ जोड़कर कहा कि साहब मेरी बेटियों ने तड़प- तड़प कर दम तोड़ा है। मेरी आंखों के सामने दोनों बेटियों को जानवरों की तरह से नौंचा गया। दरिंदगी की हदें पार की गई। उसकी रातों की नींद उड़ी हुई है।

उसे बार- बार 5 अगस्त की वह काली रात दिखाई दे रही है। जब उसकी बेकसूर बेटियों को गैंगरेप के बाद मौत के घाट उतार दिया गया। महिला ने एसएचओ से कहा कि जब तक आरोपियों को फांसी नहीं लगेगी, उसकी बेटियों की आत्मा को शांति नहीं मिलेगी। वह अपनी बेटियों को न्याय दिलाने के लिए आखिरी दम तक संघर्ष करेगी।

बिहार से मजदूरी करने आया था परिवार

बिहार से कुंडली में परिवार के साथ मजदूरी करने आई एक महिला ने बताया कि उसके पति की मौत हो चुकी है। वह अपने सात बच्चों के साथ किराए के कमरे में रहती है। उसके पास चार लड़के व तीन लड़की हैं। एक लड़की की शादी कर रखी है। 5 अगस्त की रात वह अपनी 13 व 15 साल की दो बेटियों के साथ कमरे में सो रही थी।

इस बीच साथ वाले कमरे में रहने वाले अरुण कुमार, फूलचंद, दुखन व रामसुहाग कमरे में घुस गए। चारों युवकों ने बारी- बारी बेटियों के साथ दुष्कर्म किया। जब बेटियां चिल्लाने लगीं तो मुंह में कीटनाशक दवाई डालकर मार दिया और आराेपियों ने बेटों को मारने की धमकी भी दी।

खेत मालिक ने दी थी जहरीली दवाई, धान में करना था स्प्रे

आरोपियों ने बताया कि वे जिस कमरे में रहते हैं। वहां पर 8-10 युवक रहते हैं। इनमें से कुछ चिनाई का काम करते हैं तो कुछ युवक खेतों में नलाई व स्प्रे करने का काम करते हैं। एक खेत मालिक ने उन्हें धान की फसल में स्प्रे करने के लिए दवाई दी थी। यह दवाई उसी कमरे के बगल में रखी हुई, जहां पर दोनों लड़कियों के साथ उन्होंने दुष्कर्म किया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments