नासिक : मासिक धर्म के चलते शिक्षक ने लड़कियों को पेड़ लगाने से किया मना

0
83

महाराष्ट्र के नासिक जिले में एक सरकारी आवासीय विद्यालय में एक आदिवासी छात्रा ने आरोप लगाया है कि एक पुरुष शिक्षक ने उसे और अन्य लड़कियों को मासिक धर्म के कारण वृक्षारोपण अभियान के दौरान पेड़ लगाने से रोका, जिसके बाद आदिवासी विकास विभाग ने मामले की जांच का आदेश दे दिया है।

अपने शिकायत आवेदन में, विज्ञान संकाय की 12वीं कक्षा की छात्रा ने दावा किया कि शिक्षक ने उसे और अन्य लोगों से कहा था कि अगर पीरियड्स वाली लड़कियां उन्हें लगाती हैं तो पेड़ नहीं उगेंगे और जल जाएंगे। आरोप लगाने वाली छात्रा त्र्यंबकेश्वर तालुका के देवगांव में लड़कियों के लिए संचालित माध्यमिक और उच्च माध्यमिक आवासीय स्कूल की छात्रा है।आदिवासी विकास विभाग (टीडीडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शिकायत मिलने की पुष्टि की। अतिरिक्त आयुक्त संदीप गोलैत ने कहा, “ छात्राओं समेत शिक्षकों, अधीक्षक और प्राचार्य सहित सभी के बयान लिए जाएंगे और जांच की जाएगी।”

बुधवार को नासिक जिले की अतिरिक्त कलेक्टर और टीडीडी परियोजना अधिकारी वर्षा मीणा ने स्कूल में छात्रा से मुलाकात की और उसकी समस्याओं के बारे में पूछा। शिकायत में कहा गया है कि शिक्षक ने पिछले सप्ताह स्कूल परिसर में आयोजित वृक्षारोपण अभियान के दौरान मासिक धर्म वाली लड़कियों को पेड़ लगाने से मना किया था। स्कूल में 500 छात्राएं हैं। शिक्षक ने छात्राओं से कहा कि वे पेड़ों के पास न जाएं क्योंकि पिछले साल लगाए गए पौधे मासिक धर्म के कारण नहीं उगते थे, शिकायतकर्ता ने कहा, हमें एक भी पौधा नहीं लगाने दिया गया।

इसके बाद लड़की ने श्रमजीवी संगठन के नासिक जिला सचिव भगवान मधे से संपर्क किया। मधे ने कहा कि लड़की पुरुष शिक्षक का विरोध नहीं कर सकती क्योंकि वह उसका कक्षा शिक्षक है और उसे धमकी दी थी कि मूल्यांकन के 80 प्रतिशत अंक स्कूल अधिकारियों के हाथ में हैं। संबंधित छात्रा की शिकायत के बाद मंगलवार से कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो गया। इस घटना के सामने आने के बाद कोहराम मच गया। उसके बाद बुधवार की तड़के परियोजना अधिकारी स्कूल पहुंचे। जैसे ही अधिकारी ने स्कूल में प्रवेश किया, शिक्षकों की भीड़ उमड़ पड़ी। नियमानुसार विद्यालय के शिक्षकों का मुख्यालय में रहना अनिवार्य है।हालांकि, जब परियोजना अधिकारी स्कूल पहुंचे तो कई शिक्षक घर पर थे। जैसे ही शिक्षक को पता चला कि अधिकारी आ गए हैं, शिक्षक तुरंत स्कूल जाने के लिए निकल पड़े। उसी समय देवगांव घोटी रोड पर शिक्षक की कार का एक्सीडेंट हो गया। हादसे में कार पलट गई। जिससे स्कूल के तीन शिक्षक घायल हो गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here