Saturday, September 25, 2021
Homeराजस्थानगबन : नवजीवन साेसायटी ने तीन राज्याें में एक लाख लाेगाें सेेे...

गबन : नवजीवन साेसायटी ने तीन राज्याें में एक लाख लाेगाें सेेे 500 कराेड़ रुपए ठगे, एफआईआर

जयपुर : आदर्श क्रेडिट काे-ऑपरेटिव साेसायटी के पदाधिकारियाें की ओर से 14 हजार कराेड़ रुपए के गबन मामले में निवेशकाें काे न्याय के इंतजार के बीच शनिवार काे ऐसा ही एक और मामला सामने आ गया है। अब नवजीवन क्रेडिट काे-ऑपरेटिव साेसायटी के पदाधिकारियाें ने करीब एक लाख लाेगाें काे सदस्य बनाकर 500 कराेड़ रु. का गबन किया है।

शनिवार काे स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया। एसओजी की पड़ताल में सामने आया कि साेसायटी के पदाधिकारियाें ने राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र में 150 से ज्यादा ब्रांच खाेली। साेसायटी का प्रधान कार्यालय बाड़मेर में खाेला गया। एजेंटाें के मार्फत छह साल में ढाई गुना तक मुनाफा हाेने का झांसा देकर करीब एक लाख लाेगाें से वैभव लक्ष्मी याेजना समेत विभिन्न याेजनाओं में कराेड़ाें रुपए का निवेश कराया। छह साल बाद निवेशकाें की मुनाफे की राशि नहीं मिली ताे निवेशकाें ने प्रधान कार्यालय के चक्कर लगाने शुरू कर दिए।

ऐसे में पदाधिकारियाें ने उस कार्यालय काे बंद कर दिया। एसअाेजी ने प्रधान कार्यालय में दबिश देकर पिछले छह साल की अाॅडिट रिपाेर्ट व अन्य दस्तावेजाें की जांच पड़ताल की। जांच में सामने आया कि 3762 निवेशकाें काे तय समय के बाद भी करीब 33.44 कराेड़ रु. से ज्यादा की रकम वापस नहीं लाैटाई। इस बीच, कई ब्रांचें भी बंद कर दी। नवजीवन क्रेडिट साेसायटी की फिलहाल जयपुर, जाेधपुर व बाड़मेर में कुछ ब्रांचें चल रही हैं।

परिवार में ही बनाई 10 कंपनियां, निवेश कराया
प्रारंभिक जांच में सामने आया कि साेसायटी के पदाधिकारियाें ने अपने रिश्तेदाराें और परिजनाें के नाम पर दस से ज्यादा कंपनियां बना दी और इनमें निवेशकाें की राशि का निवेश दिखाकर गबन किया। ज्यादातर कंपनियाें में साेसायटी के चेयरमैन गिरधर सिंह साेढ़ा या उनके रिश्तेदार और परिवार के सदस्य ही शामिल हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments