Saturday, September 18, 2021
Homeझारखण्डचाईबासा में नक्सलियों से मुठभेड़ : एनकाउंटर के बाद पुलिस ने 9...

चाईबासा में नक्सलियों से मुठभेड़ : एनकाउंटर के बाद पुलिस ने 9 हथियार समेत जिंदा कारतूस किया बरामद, भाग निकले दिनेश गोप दस्ते के सदस्य

नक्सलियों से मुठभेड़ के बाद बरामद हथियार।
  • पुलिस को भारी पड़ता देख PLFI सदस्य जंगल की ओर भाग गए

बंदगांव थाना क्षेत्र के खांडा गांव स्थित जंगल-पहाड़ी क्षेत्र में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ शुक्रवार की शाम सर्च अभियान चलाया। इस दौरान पुलिस ने नक्सली संगठन PLFI सदस्यों को घेरने का प्रयास किया तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। पुलिस की दिनेश गोप व जीदन गुड़िया दस्ते के नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई। इस दौरान नक्सली भाग निकले। इसके बाद पुलिस ने मौके से 9 हथियार, जिंदा कारतूस, वॉकी-टॉकी, मोबाइल और अन्य सामान बरामद किया।

सुरक्षाबलों की ओर से शनिवार को बताया गया कि नक्सलियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी गई। इसके बाद भी नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने आत्मरक्षा में जवाबी कार्रवाई की। फायरिंग बंद होने के बाद सर्च अभियान के दौरान 1 SLR, 7.62 MM LMG, 1 .315 राइफल, 6 कंट्री मेड 9 MM पिस्टल, 1 दोनाली बंदूक, 13 मैगजीन, 169 जिंदा कारतूस, 1 वॉकी टॉकी बरामद किया गया है।

जानकारी देते सुरक्षा बल के जवान।
जानकारी देते सुरक्षा बल के जवान।

मनमारू पहाड़ी नक्सलियों के लिए माना जाता है सेफ जोन

मनमारू पहाड़ी नक्सलियों का सेफ जोन माना जाता है। यह पहाड़ी गुदड़ी प्रखंड और खूंटी जिला के सीमा पर स्थित है। बंदगांव थाने से लगभग 32 किलोमीटर दूरी होने के कारण नक्सलियों के लिए काफी सुरक्षित माना जाता है। पिछले साल भी इस पहाड़ी पर नक्सली और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी।

उग्रवादी दिनेश गोप को पकड़ना तो दूर पुलिस के पास उसकी तस्वीर तक नहीं

रंगदारी के लिए कुख्यात पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के मुखिया दिनेश गोप को पुलिस और NIA 16 साल में भी उसे नहीं ढूंढ़ पाई है। फोटो तक सार्वजनिक नहीं किया गया है। दिनेश गोप 2004 से रांची पुलिस को चैलेंज कर रहा है। कुछ दिनों पहले दिनेश गोप में रांची में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सेक्रेटरी से 20 लाख रुपए की रंगदारी की मांग की थी जिसके बाद रांची के एसएसपी ने दिनेश गोप को ढूंढकर गोली मारने की बात कही थी।

एनआईए ने रखा है पांच लाख का इनाम

पिछली रघुवर दास की सरकार में दिनेश गोप को पकड़ने की पुरी कोशिश की गई थी। इसकी दोनों पत्नियां हीरा देवी और शकुंतला कुमारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया था। इसकी और इसके रिश्तेदार की दर्जनों संपत्ति को जब्त कर लिया गया था। एनआईए लगातार इसके खिलाफ अभियान चला रही थी। इसके नाम पांच लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया गया है। दबिश के बाद यह अंडरग्राउंड हो गया था। एनआईए और रांची पुलिस के अलावा रांची के सीमावर्ती आधा दर्जन जिलों की पुलिस को उसकी तलाश है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments