Friday, September 17, 2021
Homeकारोबारइंडिगो विवाद : एयरलाइन का बोर्ड प्रमोटर राकेश गंगवाल से पूछताछ कर...

इंडिगो विवाद : एयरलाइन का बोर्ड प्रमोटर राकेश गंगवाल से पूछताछ कर सकता है

नई दिल्ली. इंडिगो के प्रमोटरों के बीच शुरू हुआ विवाद कम होता नहीं दिख रहा। नाराज प्रमोटर राकेश गंगवाल के एक पत्र से शुरू हुए विवाद के बाद ऐसा लगता है कि इंडिगो के को-प्रमोटर राहुल भाटिया अपने रुख से हिलने वाले नहीं हैं। अब खबर आ रही है कि बोर्ड के सदस्य शुक्रवार को राकेश गंगवाल से पूछताछ कर सकते हैं।

 

गंगवाल ने कहा था- इंडिगो से बेहतर पान की दुकान चलती है

गंगवाल और भाटिया के बीच टकराव तब सामने आया जब गंगवाल ने आरपीटी और कॉरपोरेट नियंत्रण के मुद्दों को लेकर बाजार नियामक सेबी को पत्र लिखा। उन्होंने कहा था कि इंडिगो से बेहतर तो पान दुकान चलती है। इसके बाद भाटिया किसी सरकारी एजेंसी से कंपनी की बैलेंस शीट की जांच करवाने को लेकर तैयार थे, क्योंकि कंपनी के नजरिए से इसकी कार्यप्रणाली में कोई कमी नहीं है। इंडिगो बोर्ड के कुछ सदस्य कंपनी के को-फाउंडर राकेश गंगवाल से इस बारे में सवाल कर सकते हैं कि आखिर उन्होंने इंजन बनाने वाली कंपनी प्रैट ऐंड व्हिटनी को इंजन का ऑर्डर न देने का निर्णय खुद क्यों लिया और बोर्ड से इस बारे मे सलाह क्यों नहीं ली।

कंपनी में गंगवाल और उनके परिवार की 37 फीसदी हिस्सेदारी है जबकि भाटिया और उनके परिवार के पास 38 फीसदी हिस्सेदारी है। शेष हिस्सेदारी शेयर बाजार के माध्यम से अन्य लोगों के पास है। बताया गया है कि भाटिया के पास इंडिगो में असामान्य अधिकार है जिसके तहत वह छह में से तीन निदेशकों की नियुक्ति कर सकते हैं। इसके अलावा वे एमडी, सीईओ व प्रेसिडेंट की नियुक्ति कर सकते हैं। गंगवाल का आरोप है कि इन अधिकारों का उपयोग उचित ढंग से नहीं किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments