Saturday, September 18, 2021
Homeदेशतमिलनाडु व केरल के सात ठिकानों पर NIA की छापेमारी, मिले कई...

तमिलनाडु व केरल के सात ठिकानों पर NIA की छापेमारी, मिले कई कागजात व डिवाइस

विझिनजम हथियार (Vizhinjam arms) मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) ने शनिवार को तमिलनाडु व केरल के सात ठिकानों पर छापेमारी की। एजेंसी को ईरान व पाकिस्तान से हथियार व मादक पदार्थों के श्रीलंका तस्करी किए जाने का संदेह है। ये ठिकाने तमिनाडु के चेन्नई (Chennai) और तिरुवल्लूर (Thiruvallur) व केरल के अर्नाकुलम में हैं। जनवरी 2021 में यह मामला दर्ज किया गया था। छापेमारी के दौरान NIA को कई कागजात मिले जिसमें लिट्टे (Liberation Tigers of Tamil Eelam, LTTE) से जुड़ी किताबें, सात डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन सिमकार्ड और टैबलेट हैं।

इसी साल जनवरी में दर्ज कराए गए विझिनजम हथियार मामले में छानबीन के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने तमिलनाडु व केरल में कई ठिकानों पर छापेमारी की और मोबाइल टैबलेट समेत अनेकों डिवाइस व कागजात जब्त किए हैं।

5 अप्रैल को तिरुअनंतपुरम जिले के विझिनजम पुलिस स्टेशन में आर्म्स एक्ट के तहत 6 श्रीलंकाई नागरिकों के खिलाफ यह मामला दर्ज किया गया था। इन्हें 300 किग्रा हेरोइन (heroin), 5 AK -47 और 1000 राउंड गोलियों के साथ तटरक्षकों ने इसी साल 18 मार्च को विझिनजम तट पर पेट्रोलिंग के दौरान गिरफ्तार किया था। NIA ने दोबारा यह मामला आर्म्स एक्ट 1959 के तहत 1 मई को दर्ज किया। छानबीन के दौरात बीते 2 अगस्त को NIA ने दो आरोपियों सुरेश व सौंदराजन को गिरफ्तार किया।

इसी साल मार्च में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) और भारतीय तट रक्षकों की ओर से भी कार्रवाई की गई थी। इसमें हथियार और ड्रग सप्लाई करने वाले मॉड्यूल का पता चला था। केरल में श्रीलंका के मछली पकड़ने वाले एक जहाज पर छापेमारी के दौरान 300 किलोग्राम से ज्यादा हेरोइन, 5 AK-47 राइफल और करीब 1 हजार राउंड गोलियां जब्त की गई थीं। मामले में श्रीलंका के 6 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था। मामले में NCB ने कहा था कि एक अज्ञात जहाज ने ईरान के चाबहार पोर्ट से हेरोइन और हथियारों की खेप की सप्लाई भेजी जिसे लक्षद्वीप के पास समुद्र में मछली पकड़ने वाले श्रीलंकाई जहाज ‘रविहंसी’ को सौंपा गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments