Thursday, September 16, 2021
Homeमध्य प्रदेशपंखे से लटककर अब क‍िसी की नहीं जाएगी जान, एंटी सुसाइड फैन...

पंखे से लटककर अब क‍िसी की नहीं जाएगी जान, एंटी सुसाइड फैन को म‍िला पेटेंट

सुसाइड करने वाले लोग ज्यादातर घर में लटके सील‍िंग फैन का उपयोग करते हैं लेक‍िन अब एक ऐसे पंखे का इजाद हुआ है जिस पर लटकने से क‍िसी की मौत नहीं होगी. जबलपुर के एक डॉक्टर ने 6 साल पहले एंटी सुसाइड फैन बनाया था, ज‍िसे अब भारत सरकार के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी एक्ट के तहत पेटेंट मिल गया है.

जब इंसान को ऐसा लगता है कि उसके लिए सारे दरवाजे बंद हो गए हैं तो वह अपने लिए मौत का दरवाजा खोल लेता है लेकिन अगर आत्महत्या करने के दौरान शख्स को चंद पलों के लिए रोक लिया जाए तो वह खुदकुशी नहीं कर पाता. इसीलिए जबलपुर के एक डॉक्टर ने ऐसा पंखा बनाया है जिस पर लटक कर खुदकुशी करने की कोशिश करने पर मौत नहीं होगी.

खुदकुशी करने के लिए लोगों को सबसे आसान तरीका लगता है सीलिंग फैन से लटककर जान देना, लेकिन अब ऐसा करना मुमकिन नहीं होगा. जबलपुर के हृदय रोग विशेषज्ञ और मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. आर. एस. शर्मा ने एक ऐसे यंत्र का आविष्कार किया है जिसे पंखे में लगाने से पंखे से लटकने वाले शख्स की मौत नहीं हो पाएगी.

फांसी पर झूलते ही पंखा नीचे आ जाएगा

डॉ. आर.एस. शर्मा के यंत्र को भारत सरकार के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी एक्ट के तहत पेटेंट मिल गया है. एम्स नई दिल्ली से प्रदेश के पहले डीएम ऑडियोलॉजिस्ट डॉ. शर्मा ने करीब 6 साल पहले इस यंत्र को डिजाइन किया था जिसमें ऐसे फीचर मौजूद हैं कि सीलिंग फैन के सहारे फांसी पर झूलते ही पंखा नीचे आ जाएगा और फांसी लगाने वाले शख्स के पैर जमीन पर आ जाएंगे. इससे असमय मौत को टाला जा सकेगा.

आत्महत्या के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं

पिछले कुछ सालों में आत्महत्या के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं. जबलपुर जिले की बात करें तो रोजाना औसत 2 लोग आत्महत्या कर रहे हैं. आत्महत्या का सबसे प्रचलित तरीका फांसी है. हॉस्टल, घर, होटल के कमरे, खेतों में या फिर कहीं भी फांसी लगाकर आत्महत्या के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं. अब ऐसे में डॉक्टर शर्मा का आविष्कार आने वाले समय में कई लोगों को मौत के मुंह से बाहर ला सकता है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments