Friday, September 24, 2021
Homeपश्चिम बंगालबंगाल : एनआरसी और नागरिकता कानून विरोधी विज्ञापन असंवैधानिक, ममता ने सरकारी...

बंगाल : एनआरसी और नागरिकता कानून विरोधी विज्ञापन असंवैधानिक, ममता ने सरकारी धन का दुरुपयोग किया: राज्यपाल

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के एनआरसी और नागरिकता कानून विरोधी विज्ञापन को असंवैधानिक बताया है। धनखड़ ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मुख्यमंत्री ने विज्ञापन के लिए सरकारी धन का दुरुपयोग किया। तृणमूल सरकार ने विज्ञापन में कहा है कि बंगाल में एनआरसी और नागरिकता कानून लागू नहीं होने दिया जाएगा।

राज्यपाल ने कहा, ‘‘राज्य का मुखिया जनता के धन को एनआरसी और नागरिकता कानून विरोधी विज्ञापन के लिए मीडिया को कैसे दे सकता है? मैं शिष्टाचारपूर्वक उनको (ममता) बता चुका हूं कि यह विज्ञापन पूरी तरह असंवैधानिक है। मैंने उनसे विज्ञापन को वापस लेने का अनुरोध किया है।’’

‘बंगाल की कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब’

धनखड़ ने कहा, ‘‘यह समय राजनीति करने का नहीं है। हम सभी को कानून का पालन करना चाहिए। हम अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला नहीं झाड़ सकते हैं। राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब है। सरकारी संपत्ति को मनमाने और क्रूर ढंग से नुकसान पहुंचाया जा रहा है। समाज के खास वर्ग के लोगों के दिमाग में डर बिठा दिया गया है।’’

बंगाल में उग्र प्रदर्शन हुए, बसें और ट्रेनें जलाई गईं

नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ बंगाल के कोलकाता, मुर्शिदाबाद, हावड़ा समेत कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने उग्र विरोध दर्ज कराया था। पिछले दिनों रेलवे स्टेशनों, सरकारी दफ्तरों में तोड़फोड़ और आगजनी की गई थी। हिंसक भीड़ ने नेशनल हाईवे 34 को जाम कर 10 बसों में आग लगा दी थी। एक लोको शेड में 5 खाली ट्रेनों को जला दिया था। इसके बाद मुख्यमंत्री ममता ने प्रदर्शनकारियों से कहा था कि विरोध करें, लेकिन कानून हाथ में न लें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments