Thursday, September 23, 2021
Homeपश्चिम बंगालनर्सिंग होम ने दस हजार रुपये के लिए बेच दी नवजात बच्ची,...

नर्सिंग होम ने दस हजार रुपये के लिए बेच दी नवजात बच्ची, टेक्निशियन गिरफ्तार

  • चाइल्डलाइन को सौंपी गई मासूम
  • पश्चिम बंगाल के बर्दवान की घटना

राजनीतिक कारणों से चर्चा में रहने वाला पश्चिम बंगाल एक बार फिर चर्चा में है. इस बार कारण कोई राजनीतिक नहीं, मानवता को शर्मसार कर देने वाला है. सूबे के बर्दवान शहर में एक नर्सिंग होम से महज दस हजार रुपये में एक नवजात बच्ची का सौदा किए जाने की घटना प्रकाश में आई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर नर्सिंग होम के टेक्निशियन और बच्ची को खरीदने वाले दंपति को गिरफ्तार कर लिया है. बच्ची को चाइल्डलाइन को सौंप दिया गया है.

इस मामले में सीएमओएच और जिला परिषद ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. आरोप है कि नर्सिंग होम ने बेची गई बच्ची का एक बर्थ सर्टिफिकेट भी जारी किया है, जिसपर माता-पिता की जगह उसे खरीदने वाले प्रदीप विश्वास और उनकी पत्नी का नाम लिखा गया है. कैमरे के सामने बच्चे को खरीदने वाले प्रदीप विश्वास ने पूरा घटनाक्रम बयान किया.

बताया जाता है कि इस मामले का खुलासा छह माह बाद हुआ. सूत्रों की मानें तो बर्दवान पूर्व जिले के कटवा पानू हॉट इलाके में रहने वाले प्रदीप विश्वास की शादी के 11 साल बीत जाने के बाद भी कोई संतान नहीं थी. विश्वास दंपति ने अपने एक परिचित के सहारे बर्दवान शहर के नर्सिंग होम लाइफलाइन से संपर्क साधा. परिचित ने दंपति को यह बताया कि एक अविवाहित लड़की को बच्चा होने वाला है, जिसे वे 10 हजार रुपये देकर ले सकते हैं.

विश्वास दंपति इसके लिए तैयार हो गया. नर्सिंग होम के टेक्निशियन शैवाल राय और चिकित्सक कासिम अली ने 10 हजार रुपये लेकर 28 जून को बच्ची को उन्हें सौंप दिया. यही नहीं, आरोप है कि नर्सिंग होम की ओर से बच्ची का बर्थ सर्टिफिकेट भी जारी किया गया जिसमें पैसे देकर बच्चा खरीदने वाले प्रदीप विश्वास और उनकी पत्नी को बच्चे के माता पिता के रूप में दर्शाया गया है.

कुछ समय बाद तक तो तक तो सब ठीक चला. स्थानीय लोगों को जब इस बात पर संदेह हुआ तो लोगों ने इसकी सूचना कटवा थाने के पुलिस अधिकारियों को दी. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने तफ्तीश की तो मामले का खुलासा हो गया. पुलिस ने विश्वास दंपति के साथ ही नर्सिंग होम के टेक्निशियन शैवाल रॉय को भी गिरफ्तार कर लिया. इन तीनों से पूछताछ कर पुलिस यह पता करने का प्रयास कर रही है कि क्या नर्सिंग होम की ओर से पहले भी बच्चे बेचे गए हैं या नहीं.

प्रशासन ने दिए जांच के आदेश

घटना सामने आने के बाद सक्रिय हुए प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. पूर्व बर्दवान जिले के सीएमओएच प्रणब कुमार रॉय ने कहा कि महज कुछ पैसों के लिए ऐसा काम करने वाले लोग मनुष्य हैं ही नहीं. उन्होंने कहा कि सदर मेडिकल अधिकारी को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है. पूर्व बर्दवान जिला परिषद के सह अध्यक्ष देबू टुडू ने भी जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की बात कही है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments