विशेषज्ञ मानते हैं कि ठंड में शरीर में खास तरह के हार्मोंस बनते हैं, जो किसी भी तरह के खाने से पाचन तंत्र को बिगड़ने नहीं देते हैं। लेकिन, कुछ ऐसी चीज़ें भी हैं, जिनको खाने में बरती गई लापरवाही ख़तरनाक साबित हो सकती है। तमाम शोधों में यह बात सामने आ चुकी है कि लाल सोयाबीन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए ख़तरनाक भी हो सकती है। इसमें खास तरह की वसा की मात्रा अधिक होने के चलते इसे पचा पाना मुश्किल होता है।

ख़तरनाक भी हो सकता है लाल बीन्स

रिसर्च के मुताबिक क्योंकि बीन्स में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और खनिज की मात्रा अधिक होती है इसलिए इसे डाइट का अहम हिस्सा बनाया गया है। वहीं, लाल बीन्स में शरीर को फायदा पहुंचाने वाले इन सभी तत्‍वों के अलावा फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस फैट को आसानी से पचा पाना मुश्किल होता है। इसे खाने के लिए 12 घंटे तक पानी में रखने के बाद उबालना भी चाहिए। इसके बाद ही इसे खाया जा सकता है लेकिन मात्रा तब भी कम रखनी चाहिए।

जायफल भी बिगाड़ सकता है तबियत

इसी तरह इंडोनेशिया में भारी मात्रा में पैदा होने वाले जायफल की अधिक मात्रा किसी को भी बीमार बना सकती है। पेड़ों पर होने वाला यह फल आमतौर पर नॉनवेज खाने में इस्‍तेमाल किया जाता है। लेकिन कई बार इसे आलू के अलावा भी कुछ रेसीपीज में इस्‍तेमाल किया जाने लगा है। रिसर्चर मानते हैं कि इसकी थोड़ी सी भी ज्‍यादा मात्रा पाचन तंत्र को खराब कर सकती है।

जायफल की ज्‍यादा मात्रा का सेवन करने पर व्‍यक्ति को उल्टियां और दस्‍त शुरू हो जाते हैं। इसके अलावा सांस में दिक्‍कत और सीने में दर्द भी होने लगता है। कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि इसकी ज्‍यादा मात्रा किसी भी व्‍यक्ति को पागल भी कर सकती है। बेहद गर्म होने के चलते मनुष्‍य का माइंड न्‍यूरोलॉजी सिस्‍टम बिगड़ने लगता है और वह मानसिक संतुलन खो बैठता है।