Sunday, September 19, 2021
Homeमध्य प्रदेशतार फेंसिंग कर किया सड़क पर कब्जा, ग्रामीणों ने किया विरोध

तार फेंसिंग कर किया सड़क पर कब्जा, ग्रामीणों ने किया विरोध

मुरैना पोरसा तहसील के गांव खटनकनपुरा के आम रास्ते पर दबंगों ने रास्ता रोककर कब्जा कर लिया। इस बात को लेकर गांव के लोगों ने जमकर विरोध किया और गांव के मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। इस पर रजौधा चौकी की पुलिस मौके पर पहुंची और कब्जा हटाने के आश्वासन के बाद ग्रामीण माने। तब जाकर जाम खोला गया। घटना बुधवार की है।यहां बता दें, कि औरेठी पंचायत के खटनकनपुरा गांव में कुछ दबंगों द्वारा तार फेंसिंग की जा रही थी। इस बात का ग्रामीणों ने विरोध किया। अपनी बात पुलिस के सामने रखने के लिए ग्रामीण रजौधा पुलिस चौकी पहुंचे तथा पुलिस को शिकायती पत्र देकर इस अवैध कब्जे को हटाने के लिए कहा। इस पर भी जब तार फेंसिंग का काम नहीं रोका गया तो ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पाकर रजौधा चौकी की पुलिस मौके पर पहुंची तथा उसने ग्रामीणों से बात की।

जाम लगाते ग्रामीण
जाम लगाते ग्रामीण

यह थी ग्रामीणों की मुख्य समस्या

खटकनपुरा गांव के ग्रामीणों का कहना था कि जिस जमीन पर दबंगों ने कब्जा किया है। वह गोचर की शासकीय जमीन है। इस पर इन लोगों के द्वारा जबरन तार फेिन्संग कर कब्जा किया जा रहा है। इनके कब्जे की वजह से हमारे घरों का रास्ता बंद हो गया है। रास्ता बंद होने से हम कहां से निकलेंगे तथा कहां अपने पशुओं को बांधेंगे?

हमारा खेत हैं, इसलिए कर रहे तार फेंसिंग

जमीन मालिक ने पुलिस को बताया कि यह हमारी जमीन है। इन लोगों के मकान शासकीय जमीन पर बने हुए हैंं। हमारे खेत में जानवर घुस आते हैं तथा पूरी फसल चौपट कर देते हैं। इसकी वजह से तार फेन्सिंग की जा रही है। यह लोग इस बात का विरोध कर रहे हैं।

ग्रामीणों ने दिया शिकायती पत्र
ग्रामीणों ने दिया शिकायती पत्र

पुलिस ने दी यह समझाइश

दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद रजौरा पुलिस चौकी प्रभारी ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि पहले पटवारी व तहसीलदार को बुलाकर जमीन का सीमांकन कराया जाएगा। जब यह बात स्पष्ट हो जाएगी कि, किसकी जमीन है उसके बाद ही तार फेंसिंग हो सकेगी। पुलिस के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments