Tuesday, September 21, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशकच्चे मकान की छत के नीचे दबी वृद्ध

कच्चे मकान की छत के नीचे दबी वृद्ध

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के थाना नानौता क्षेत्र के चाहमजली कोट निवासी अरशद बेग का कच्चा मकान गुरुवार देर रात भर-भराकर गिर गया। मलबे के नीचे अरशद की वृद्ध मां अनीसा 80 दब गई। लोगों ने वृद्धा को सकुशल मलबे से बाहर निकाला। पीड़ित ने कच्चा मकान बनवाने के लिए तीन साल से डूडा में आवेदन कर रखा है। सर्वे भी हो चुका है। लेकिन अभी तक पैसा नहीं मिला है। कई दिन पहले क्षेत्र में हुई बारिश के बाद दो दिनों से धूप निकल रही है। ऐसे में कच्चे मकानों पर आफत आन पड़ी है। मोहल्ला चाहमजली कोट स्थित गुर्जरों वाली मस्जिद के निकट के पास अरशद बेग पुत्र कय्यूम बेग का कच्चा मकान है। गुरुवार की देर रात परिवार के सदस्य अपने घर में सोए हुए थे। अरशद की वृद्ध मां अनीसा 80 कड़ियों के कच्चे कमरे में अलग सोई थी। देर रात करीब 2 बजे करीब अनीसा के ऊपर कच्ची छत गिर गई। वृद्धा ने शोर मचाया। जिसके बाद दूसरे कमरे में सो रहे परिवार के सदस्यों ने घबरा गए और कमरे से बाहर आए। अरशद ने बताया कि जैसे वह कमरे से बाहर आए तो उनकी वृद्ध मां मलबे के नीचे दबी पड़ी थी। आसपास के लोग भी मौके पर आ गए। लोगों ने वृद्ध को बमुश्किल मलबे से बाहर निकाला। वहीं सूचना मिलने पर चेयरमैन पति सरफराज अख्तर उर्फ मुन्ना भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत मकान बनवाने का आश्वासन दिया। तीन साल डूडा के चक्कर काट रहा पीड़ित पीड़ित अरशद का कहना है कि तीन वर्ष पहले उसने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कच्चे मकान को बनवाने के लिए आवेदन किया था। डूडा द्वारा सर्वे भी कर लिया गया है। लेकिन आज तक भी उसे एक भी किस्त नहीं मिली है। पीड़ित का कहना है कि यदि समय पर योजना का पैसा मिल जाता तो मकान पक्का होता। पीड़ित ने डूडा से जल्द से जल्द मकान को बनवाने के लिए योजना का पैसा दिलाने की मांग की है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments