Friday, September 24, 2021
Homeराजस्थानसोशल मीडिया पर 'ठीक है दोस्तो अलविदा, चलते है हम' कहकर युवक...

सोशल मीडिया पर ‘ठीक है दोस्तो अलविदा, चलते है हम’ कहकर युवक ने फांसी लगाई, दो महीने से था बेरोजगार

मृतक मनीष (35) तेजाजी मंदिर सकतपुरा इलाके का निवासी था। दो माह पहले वो गुमानपुरा इलाके में हाडवेयर की दुकान पर काम करता था। फिलहाल वो बेरोजगार था।

शहर के कुन्हाड़ी थाना इलाके ने देर रात एक होश उड़ाने देने वाली वारदात सामने आई। एक युवक ने घर मे पंखे से लटक कर फांसी लगा ली। फांसी लगाने से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर लाइव किया। मौत से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर कहा ‘ठीक है दोस्तो अलविदा,चलते है हम’ ये कहकर फांसी फंदा गले मे लगाया और पंखे से लटक गया। सोशल मीडिया पर जिसने में ये तस्वीर देखी उसके होश उड़ गए।

मृतक मनीष (35) तेजाजी मंदिर सकतपुरा इलाके का निवासी था
मृतक मनीष (35) तेजाजी मंदिर सकतपुरा इलाके का निवासी था

 

कारणों का नही हुआ खुलासा

मृतक मनीष (35) तेजाजी मंदिर सकतपुरा इलाके का निवासी था। दो माह पहले वो गुमानपुरा इलाके में हाडवेयर की दुकान पर काम करता था। फिलहाल वो बेरोजगार था। करीब 3 साल पहले उसकी शादी नया गांव में हुई थी। शादी के एक साल बाद ही पत्नी उसे छोड़कर पीहर चली गई थी। मनीष उसके माता-पिता व छोटे भाई के साथ रहता था। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव को एमबीएस की मोर्चरी में रखवाया है। फिलहाल फांसी लगाने के कारण सामने नही आया है कुन्हाड़ी पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

फिलहाल फांसी लगाने के कारण सामने नही आया है कुन्हाड़ी पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
फिलहाल फांसी लगाने के कारण सामने नही आया है कुन्हाड़ी पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

 

छोटे भाई ने लाइव देखा तो होश उड़े

मृतक के छोटे भाई हर्ष ने बताया कि घटना रात 10 बजे की है। मनीष कमरे में अकेला था। दरवाजा लगा हुआ था। जब उसने फांसी लगाई उस समय वो बाथरूम में था। मोबाइल पर सोशल मीडिया पर देखा तो मनीष फांसी पर लटका हुआ नजर आया। तुरन्त कमरे में पहुंचकर नीचे उतारा और MBS अस्पताल लाए। ड्यूटी डॉक्टर ने चेक कर मृत घोषित किया।

दिनभर घर में ही था

हर्ष ने बताया कि मनीष कुछ महीनों से शराब व भांग का सेवन करता था रोज नशे में घर पर सब्जी व खाने को लेकर बहसबाजी करता था। सोमवार को दिनभर वो घर पर रहा। शाम को 5 बजे घर से बाहर निकला था। वापस लौटा तब नशे में था। सोमवार को उसने घर मे किसी से बहस भी नहीं की, ना ही कोई झगड़ा किया। वो अपने कमरे में चला गया। उसने कमरे की अंदर की कुंडी भी नहीं लगाई। केवल दरवाजा लगा हुआ था। उसने कभी तनाव में होने के बारे में बात नहीं की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments