Friday, September 24, 2021
Homeव्यापारKVP, SSY, PPF और SCSS में निवेश कर पा सकते हैं उच्च...

KVP, SSY, PPF और SCSS में निवेश कर पा सकते हैं उच्च व गारंटीड रिटर्न, जानिए क्या हैं ब्याज दरें

ऐसे समय में जब शेयर बाजार अस्थिर है, स्मॉल सेविंग स्कीम्स सुरक्षित निवेश के लिहाज से काफी बेहतर विकल्प प्रदान करती हैं। एक बेहद लोकप्रिय स्मॉल सेविंग स्कीम है- किसान विकास पत्र (KVP)। यह स्कीम आकर्षक ब्याज दर ऑफर करती है। यह सबसे अधिक ब्याज दर प्रदान करने वाली बचत योजनाओं में से एक है। यह योजना इस समय 6.9 फीसद चक्रवृद्धि सालना ब्याज दर की पेशकश कर रही है। इस योजना में निवेश की गई राशि 124 महीने (10 साल 4 महीने) में दोगुनी हो जाती है।

KVP और दूसरी बचत योजनाओं की खास बात यह है कि ये सॉवरेन गारंटी के साथ आती हैं। भारत सरकार द्वारा समर्थित बचत योजनाओं में से सबसे अधिक ब्याज दर वाली तीन बचत योजनाएं SCSS PPF और SSY योजना है।

सेबी रजिस्टर्ड निवेश सलाहकार जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि किसान विकास पत्र में न्यूनतम 1000 रुपये निवेश किये जा सकते हैं। साथ ही अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है। योजना में 100 के गुणकों में राशि जमा कराई जा सकती है। इस योजना में एकल वयस्क, संयुक्त खाता (3 वयस्क तक), नाबालिग की ओर से एक अभिभावक और मानसिक रूप से दिव्यांग व्यक्ति की ओर से एक अभिभावक खाता खुलवा सकता है। इस योजना में कितने भी खाते खुलवाए जा सकते हैं।

वित्त मंत्रालय द्वारा समय-समय पर बतायी जाने वाले मैच्योरिटी अवधि में इस योजना का निवेश मैच्योर हो जाता है। सोलंकी के अनुसार, किसान विकास पत्र और दूसरी बचत योजनाओं की खास बात यह है कि ये सॉवरेन गारंटी के साथ आती हैं। भारत सरकार द्वारा समर्थित बचत योजनाओं में से सबसे अधिक ब्याज दर वाली तीन बचत योजनाएं सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम, पब्लिक प्रोविडेंट फंड और सुकन्या समृद्धि योजना है। आइए इनके बारे में भी जानते हैं।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS)

यह योजना गारंटीड रिटायरमेंट इनकम प्रदान करती है। इस योजना में निवेश के लिए आपको 60 साल की आयु के साथ एक भारतीय नागरिक होना चाहिए। जो लोग स्वैच्छिक या विशेष स्वैच्छिक योजना के तहत सेवानिवृत्त हुए हैं, उनके लिए आयु की आवश्यकता 55 वर्ष है। वहीं, जो लोग रक्षा सेवाओं (नागरिक सुरक्षा कर्मचारियों के अलावा) से सेवानिवृत्त हुए हैं, उनके लिए कुछ शर्तों के साथ निवेश के लिए आयु 50 वर्ष रखी गई है। इस योजना में न्यूनतम निवेश 1000 रुपये और अधिकतम निवेश 15 लाख रुपये किये जा सकते हैं। इस योजना की अवधि 5 साल की है। इसे 3 साल और बढ़ाया जा सकता है। इस योजना में खाता एकल या ज्वाइंट (पति/पत्नी के साथ) खोला जा सकता है। इस समय इस योजना में ब्याज दर 7.4 फीसद सालाना है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)

यह योजना बेटियों के लिए है। इस योजना में अभिभावक अपनी 10 साल से छोटी बेटी के नाम पर खाता खुलवा सकते हैं। पोस्ट ऑफिस या किसी बैंक में जाकर यह खाता खुलवाया जा सका है। एक परिवार की अधिकतम दो बेटियों के लिए यह खाता खुलवाया जा सकता है। भारतीय डाक की वेबसाइट के अनुसार, न्यूनतम 250 रुपये की राशि से यह खाता खुलवाया जा सकता है। एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.50 लाख रुपये निवेश किये जा सकते हैं। टैक्स एंड इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन के मुताबिक, इस योजना में ब्याज दर हर तिमाही के लिए सरकार द्वारा तय की जाती है। इस अकाउंट में राशि एकमुश्त या किस्तों में जमा करायी जा सकती है। खाता खुलने के अधिकतम 15 साल पूरे होने तक खाते में राशि जमा करायी जा सकती है। वर्तमान में यह योजना 7.6 फीसद चक्रवृद्धि सालाना ब्याज दर की पेशकश कर रही है। हर वित्त वर्ष के आखिर में अकाउंट में ब्याज जमा होगा। इस योजना में मिला ब्याज टैक्स फ्री होता है।

पीपीएफ (PPF)

भारतीय डाक की वेबसाइट के अनुसार, पब्लिक प्रोविडेंट फंड में न्यूनतम 500 रुपये से खाता खुलवाया जा सकता है। वहीं, अकाउंट में अधिकतम  1.5 लाख रुपये सालाना निवेश किये जा सकते हैं। सेबी रजिस्टर्ड निवेश सलाहकार जितेंद्र सोलंकी के अनुसार, पीपीएफ 15 साल की मैच्योरिटी अवधि के साथ आता है। इसे 5 साल के लिए और आगे बढ़ाया जा सकता है। पीपीएफ पर ब्याज दर सरकार द्वारा हर तीन महीने में तय की जाती है। पीपीएफ पर इस समय 7.10 फीसद चक्रवृद्धि वार्षिक ब्याज दर की पेशकश की जा रही है। इस योजना में हर साल 31 मार्च को ब्याज का भुगतान होता है। निवेशक पीपीएफ की राशि पर लोन भी ले सकता है। खास बात यह है कि इसमें निवेशकों को कर लाभ भी मिलता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments