Sunday, September 26, 2021
Homeहेल्थडायबिटीज के मरीजों के लिए किसी दवा से कम नहीं है प्याज...

डायबिटीज के मरीजों के लिए किसी दवा से कम नहीं है प्याज का तेल, ऐसे करें सेवन

खराब दिनचर्या और अनुचित खानपान के चलते कई बीमारियां जन्म लेती हैं। इनमें एक डायबिटीज है। डायबिटीज की बीमारी रक्त में शर्करा स्तर के बढ़ने और अग्नाशय से इंसुलिन हार्मोन न निकलने से होती है। इस बीमारी में मरीजों को मीठा खाने की मनाही होती है। विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज के मरीजों को अनुशासित होना चाहिए। इसके लिए सही दिनचर्या, उचित खानपान और रोजाना वर्क आउट जरूरी है। इनसे ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और ब्लड शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं, तो प्याज के तेल का सेवन कर सकते हैं। आइए, इसके बारे में सब कुछ जानते हैं-

प्याज एक वनस्पति है जिसका इस्तेमाल जायके का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंटएंटी-इंफ्लेमेटरी एंटी-एलर्जिक और एंटी-कार्सिनोजेनिक के गुण पाए जाते हैं जो कई बीमारियों में फायदेमंद होते हैं। साथ ही इसमें आयरन फोलेट पोटैशियम विटामिन ए बी6 बी-कॉम्प्लेक्स भी पाए जाते हैं।

प्याज एक वनस्पति है, जिसका इस्तेमाल जायके का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट,एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-एलर्जिक और एंटी-कार्सिनोजेनिक के गुण पाए जाते हैं जो कई बीमारियों में फायदेमंद होते हैं। साथ ही इसमें आयरन, फोलेट पोटैशियम, विटामिन ए, बी6, बी-कॉम्प्लेक्स भी पाए जाते हैं। जबकि, प्याज सल्फ्यूरिक कंपाउंड्स और फ्लेवोनॉएड्स का मुख्य स्त्रोत है। प्याज का तेल भी कई रोगों में लाभकारी है। खासकर डायबिटीज़ के मरीजों के लिए यह कारगर साबित होता है।

एक शोध में साबित हो चुका है कि प्याज का तेल डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। यह शोध चूहों पर किया गया था। इस शोध में चूहों को प्याज का तेल का हाई डोज दिया गया था। इसका परिणाम संतोषजनक रहा है। इस शोध से साबित हुआ है कि प्याज के तेल से ब्लड शुगर नियंत्रित होता है। जबकि, इंसुलिन में भी बढ़ोतरी होती है। इसके लिए डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट में प्याज का तेल जरूर शामिल करें। साथ ही प्याज के तेल के सेवन से रात में नींद अच्छी आती है। इसके लिए रात में सोने से प्यााज के तेल से पहले बालों की मालिश करें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments