Monday, September 20, 2021
Homeराजस्थान1 करोड़ आबादी का पेयजल जिन बांधों पर निर्भर, वे 30% ही...

1 करोड़ आबादी का पेयजल जिन बांधों पर निर्भर, वे 30% ही भरे; कई बांध खाली

राजस्थान में अटक-अटककर चल रहे मानसून से जल संकट का खतरा मंडरा रहा है। हमारी करीब 1 करोड़ आबादी का पेयजल जिन बांधों से मिलता है, उनमें अभी तक करीब 30% पानी ही आया है। जबकि आधा मानसून गुजर चुका है। अकेले बीसलपुर बांध पर ही 90 लाख आबादी निर्भर है। इसमें अब तक सिर्फ 34.10% पानी आया है। जवाई 12.01% व जाखम बांध सिर्फ 39.57% भर पाया है।

इन दोनों बांधों पर लगभग 10 लाख आबादी निर्भर है। इसके अलावा अन्य छोटे-बड़े बांध भी पूरे साल लगभग 20 से 30 लाख लोगों की प्यास बुझाते हैं। मगर चिंता की बात ये है कि इनमें भी औसत से कम पानी आया है। ऐसे में जलदाय विभाग की चिंताएं बढ़ गई हैं। अब 10 सितंबर तक बारिश का इंतजार किया जाएगा, इसके बाद सर्दियों के लिए भी कंटिंजेंसी प्लान बनाना होगा।

बारिश-गर्मी का कॉकटेल- 14 जिलों में मानसून फिर सक्रिय; 8 जगह खूब बारिश, चूरू समेत 5 जिलों में पारा 40 डिग्री के पार
जयपुर|
 दाे हफ्ते का ब्रेक लेने के बाद प्रदेश में मानसून फिर सक्रिय हुआ है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से राज्य के दक्षिणी पूर्वी जिलाें में मानसून एक्टिव हुआ। बीते 24 घंटे में उदयपुर, काेटा व भरतपुर संभाग के कुल 14 में से 8 जिलाें में अच्छी बारिश हुई। बांसवाड़ा, काेटा, चित्तौड़, डूंगरपुर, झालावाड़, स.माधाेपुर, सिराेही, टाेंक व उदयपुर में जमकर बारिश हुई। वहीं, पश्चिमी राजस्थान में अभी भी गर्मी हावी है। श्रीगंगानगर, फलाैदी, बीकानेर, चूरू और बाड़मेर में पारा 40 डिग्री से ऊपर रहा।

आगे? आज-कल भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग ने शनिवार व रविवार काे भरतपुर, धाैलपुर, कराैली, स.माधाेपुर, अलवर, दाैसा, जयपुर, झुंझुनूं और सीकर जिले में एक दो स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी है। प्रदेश में पूर्व इलाकाें में डेढ़ दर्जन जिलाें में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश का अनुमान है। 23 अगस्त से 2 सितंबर तक मानसून फिर कमजाेर पड़ने से बारिश की में कमी हाेने की संभावना है। उसके बाद फिर बारिश होगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments