जीएसटी के दरों में बढ़ोतरी पर विपक्ष की मोर्चेबंदी

0
73

केंद्र सरकार ने रोजमर्रा की तमाम वस्तुओं पर जीएसटी की दरों में बढ़ोतरी कर दी है। जीएसटी दरें बढ़ने के बाद केंद्र सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है। कांग्रेस, एनसीपी, सपा समेत तमाम विरोधी दल केंद्र सरकार के खिलाफ सड़क से लेकर संसद तक लामबंद हैं। हंगामे की वजह से संसद में काम नहीं हो पा रहा है। विरोधियों का कहना है कि आवश्यक वस्तुओं में जीएसटी वृद्धि अमानवीय है।

विपक्ष के आरोपों के बीच केंद्र सरकार के मंत्री अनुराग ठाकुर ने पटलवार किया है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि विपक्ष चर्चा से भाग रहा है। विपक्षी दल भ्रम की स्थिति पैदा करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। इतना ही नहीं अनुराग ठाकुर ने विपक्ष के प्रदर्शन को दिखावा कहा। उन्होंने कहा कि जीएसटी परिषद की बैठक में किसी राज्य ने कोई विरोध नहीं किया। तो वो आज दिखावा कर देश को गुमराह करने का कार्य क्यों कर रहे हैं।

अनुराग ठाकुर ने कहा, ‘अगर विरोध करना था तो जीएसटी की बैठक में करते। जीएसटी से पहले के दाम और जीएसटी आने के बाद के दाम को देखना चाहिए। मोदी जी के आने बाद ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को भी बढ़ावा मिला है, महंगाई में कमी आई है क्योंकि जीएसटी से पहले और जीएसटी आने के बाद रेट में बहुत अंतर है।’

संसद के अंदर और बाहर प्रदर्शन जारी

गौरतलब है कि महंगाई और जीएसटी वृद्धि को लेकर विपक्षी दलों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। सोमवार को शुरू हुए संसद के मानसून सत्र में लगातार हंगामा हो रहा है। पिछले तीन दिनों से संसद का काम बाधित हो रहा है। हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही को बार-बार स्थगित करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here