Sunday, September 26, 2021
Homeविश्वबाइडेन का फोन नहीं आने से पाक बेचैन : लोग बोले- अमेरिका...

बाइडेन का फोन नहीं आने से पाक बेचैन : लोग बोले- अमेरिका ने पाकिस्तान को टिश्यू पेपर की तरह फेंक दिया

पाकिस्तान में इन दिनों एक सवाल ने यहां के मंत्रियों की नींद हराम कर रखी है। सवाल यह है- ‘आखिर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) इमरान खान को फोन कब करेंगे?’ इस सवाल पर पाकिस्तान की बेचैनी को मुल्क के विदेश मंत्री और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के जवाब से समझा जा सकता है। इस सवाल के जवाब में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने जियो टीवी के कार्यक्रम में कहा- ‘अमेरिका को पाकिस्तान को वो महत्व देना चाहिए, जिसका वो हकदार है।’

वहीं, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ ने एक इंटरव्यू में कहा, अगर अमेरिकी राष्ट्रपति पाकिस्तानी नेतृत्व को ऐसे ही नजरअंदाज करते रहे तो हमारे पास बहुत से विकल्प हैं। हमें उनकी तरफ से हर बार कहा गया कि बात होगी, यह तकनीकी कारण है या जो भी हो। लेकिन, लोग इस पर विश्वास नहीं करते हैं।’

कमजोर लीडरशिप से जोड़कर देखे जा रहे बयान

इन दो बयानों को पाक की कमजोर लीडरशिप से जोड़कर देखा जा रहा है। यहां तक कि लोग सोशल मीडिया पर मजे भी ले रहे हैं। कायदे ए आजम यूनिवर्सिटी में इंटरनेशनल रिलेशन की छात्रा नरगिस शाहीन कहती हैं- ‘अमेरिका ने हमें टिश्यू पेपर की तरह इस्तेमाल कर फेक दिया, लेकिन हमारी सरकार अमेरिका से बात करने के लिए मरी जा रही है? जब हम राष्ट्रीय सलाहकार का बयान सुनते हैं तो हमारा सिर शर्म से झुक जाता है।’

पाकिस्तान की अहम सियासी पार्टी पीपीपी के सांसद आगा रफीउल्लाह कहते हैं कि क्या हमारे वजीर ए आजम बाइडेन की कॉल के गुलाम हैं? क्या किसी मुल्क के वजीर-ए-आजम का ये स्टेटस होता है? ये सरकार घर और बाहर दोनों ही मोर्चों पर नाकाम रही है।

जमात ए इस्लामी पार्टी के नेता मियां मोहम्मद असलम कहते हैं, ‘हमारे हुक्मरान अमेरिका के पिट्ठू हैं। ये हुकूमत जनता को गुलामी की दलदल में धकेलना चाहती है। आज भी हमारा मुल्क अमेरिका की जंग का हिस्सेदार बनने पर गुरबत की चक्की में पिस रहा है। इन हुक्मरानों की औलादें अमेरिका में रहती हैं। इसलिए उसके इशारे पर नाचते हैं।’

इमरान कश्मीर पर बात करेंगे, इसलिए बाइडेन फोन नहीं कर रहे

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग भी इस मुद्दे पर सख्त है। वे कहते हैं कि पाक में ये किस तरह की विदेश नीति चल रही है। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी पाक-अमेरिकी संबंधों की मजबूती की बात करते हैं और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पब्लिक के बीच इस तरह की गैर जिम्मेदाराना बात करते हैं।

इन सबके बीच पाकिस्तान सरकार जिस तरह से TV डिबेट में सफाई दे रही है, उस पर भी लोगों की हंसी छूट रही है। प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक उस्मान डार एक TV डिबेट में कहते हैं कि जो बाइडेन इसलिए फोन नहीं कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें पता है कि इमरान खान कश्मीर मुद्दे पर उनसे बात करेंगे, जिसका उनके पास कोई जवाब नहीं होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments