Tuesday, September 28, 2021
Homeविश्वसिंगापुर : मरीजों को सुकून मिले, इसलिए अस्पताल में लगाईं महकते फूल-पौधों...

सिंगापुर : मरीजों को सुकून मिले, इसलिए अस्पताल में लगाईं महकते फूल-पौधों की 700 प्रजातियां

सिंगापुर. सिंगापुर का खू तेक पुत अस्पताल मरीजों और परिजनों के तनाव कम करने वाला प्रमुख अस्पताल है। इसका कारण है अस्पताल परिसर और भवन में करीब 700 फूलों वाले पौधों की प्रजातियों को लगाईं गई हैं। यह प्राकृतिक सजावट  लोगों को मानसिक और शारीरिक थकान को दूर करने में अहम भूमिका निभा रहा है। इन प्रजातियों की महक से अस्पताल का वातावरण हमेशा सुकून देना रहता है। खू तेक पुत सिंगापुर के पांच प्रमुख अस्पतालों में एक जो पब्लिक सेवाओं के लिए प्रसिद्ध है। इन पांच में खू तेक पूत, टैन टॉक सेंग अस्पताल, सिंगापुर जनरल अस्पताल, चांगी जनरल अस्पताल, और नेशनल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल है।

खू तेक पुत की तर्ज पर मलेशिया और चीन में भी बने अस्पताल

अस्पताल का निर्माण 2005 में शुरू हुआ था। 2010 में यहां इलाज शुरू हुआ। इसे सिंगापुर की ही कंस्ट्रक्शन फर्म सीपीजी कॉरपोरेशन ने बनाया है। फर्म डिजाइनर के सामने एक वन्य संपदा युक्त वातावरण वाला अस्पताल विकसित करने का टास्क था। कंपनी ने अपने काम को बखूबी अंजाम दिया। अस्पताल के सदस्य स्टीफन किशन ने कहा, इसकी सफलता को देखते हुए ही मलेशिया, चीन और पाकिस्तान में इसी तरह की परियोजनाओं को शुरू करने के लिए आर्कटेक्ट को प्रेरित किया है और यह संभवतः दुनिया भर में कई और को प्रेरित करेगा।

हाल ही में अस्पताल को लेकर हुए रिसर्च में दावा किया गया है कि यहां के प्राकृतिक वातावरण की बदौलत शारीरिक और मानसिक रोगियों में तेजी से सुधार हो रहा है। यहां की हरियाली और अनेक खुशबुओं के कारण बीते आठ सालों में यह लोगों का फेवरेट प्लेस बन कर उभरा है।

अस्पताल का वेंटिलेशन इस तरह से तैयार किया है कि इसमें हवा का प्रवाह सामान्य बिल्डिंग से अधिक रहता है। इसके बड़े दरवाजे और खिड़कियों के लेआउट से अस्पताल का एयर फ्लो 20 से 30% बेहतर है। इसकी बदौलत अस्पताल में बिजली के उपकरणों से एयरफ्लो तैयार नहीं करना पड़ता। इससे 60% बिजली और इसके बिल के रूप में खर्च होने वाले रुपयों की बचत होती है।

अस्पताल के छत पर एक गार्डन भी बनाया है। इसमें 200 से अधिक प्रजातियों की वनस्पति लगी है। इनमें से 100 मध्यम ऊंचाई वाले फलदार पेड़ हैं। 50 सब्जियों के पौधे और 50 जड़ी बूतियों वाली वनस्पतियां हैं। इनकी देखभाल अस्पताल के वॉलिंटियर्स ही करते हैं। यहां से उत्पन्न सामग्री मरीजों के लिए काम आती है।

मरीजों फीड बैक का ख्याल अहम

स्टीफन किशन ने कहा, ‘खू तेक पुत अस्पताल रोगियों के फीड बैक को लेकर सजग रहता है। खू टेक पुत लगातार कर्मचारियों, रोगियों, और आगंतुकों के लिए सेवाओं को लेकर कई एंगल पर विचार करता है। अस्पताल ने अपने डिजाइन के लिए कई पुरस्कार जीते हैं, जिसमें इंटरनेशनल फ्यूचर लिविंग इंस्टीट्यूट और बायोफिलिक डिजाइन अवार्ड शामिल है। यह अस्पताल गैर-लाभकारी है।’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments