Friday, September 24, 2021
Homeबिहारपटना ने मारी बाजी, वैक्सीनेशन में टॉप पर पटना

पटना ने मारी बाजी, वैक्सीनेशन में टॉप पर पटना

कोरोना की लड़ाई में पटना टॉप पर है, लेकिन राज्य के कई जिले काफी पीछे चल रहे हैं। पटना में जहां शहरी क्षेत्र को 10 प्रतिशत वैक्सीनेशन की लड़ाई चल रही है, वहीं कई जिलों में जागरूकता नहीं आ पा रही है। बिहार में अब तक कुल 2,80,26,525 लोगों को टीका लगा है, जिसमें 2,35,05,315 लोगों ने पहला और 45,21,210 लोगों ने दूसरा डोज लगवाया है।

18 प्लस की तरह दिखाना होगा दम

बिहार में 18 प्लस के लोगों ने जमकर वैक्सीनेशन कराया है और इस आयु वर्ग के लोगों के आगे आने के कारण ही वैक्सीनेशन में रफ्तार आई है। 18 से 44 वर्ष के 1,41,10,093 लोगों ने टीकाकरण कराया है। 45 से 60 वर्ष के लोगों ने मात्र 75,61,191 लोगाें ने वैक्सीनेशन कराया है जबकि 60 वर्ष से अधिक उम्र के 63,55,241 लोगों ने ही टीका लगवाया है। 18 से 45 वर्ष के लोगों में वैक्सरीनेशन को लेकर काफी जागरूकता है, लेकिन अन्य आयु वर्ग में वैक्सीनेशन की रफ्तार ठीक नहीं है।

वैक्सीनेशन के लिए पुरस्कार

पटना में वैक्सीनेशन को लेकर अफसरों ने पूरी ताकत झोंक दी है। इससे काफी तेजी आई है। पटना में वैक्सीनेशन को लेकर हर स्तर पर तैयारी हुई और 9 नगर निकाय पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो गए हैं। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव द्वारा प्रशंसा पत्र भी DM डॉ चंद्रशेखर सिंह को दिया गया है। 7 अगस्त को मेगा वैक्सीनेशन कैंप में पटना ने कई रिकॉर्ड बनाया जिससे पटना का नाम पूरे देश में छाया रहा।

एक दिन में बनाया रिकॉर्ड

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में पटना का मॉडल अन्य जिलों काे बताया जा रहा है। 7 अगस्त को एक दिन में 1,36,560 लोगों ने टीका लगा, जिससे पटना देश का पहला सर्वाधिक टीकाकरण वाला जिला बना। पटना के 9 नगर निकाय नगर परिषद मोकामा, बाढ़, बख्तियारपुर, फतुहा, खगौल, फुलवारी शरीफ, दानापुर, मसौढी तथा नगर पंचायत विक्रम 100 प्रतिशत वैक्सीनेटेडे हो गया है। राज्य में 33% की तुलना में जिले के 55% लोगों को टीका लगा है शहरी क्षेत्र में 97% लोगों का टीकाकरण हो चुका है। अब पटना के शहरी क्षेत्र में 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य है।

पटना की तरह पकड़नी होगी रफ्तार

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। CM नीतीश कुमार भी लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं। एक्सपर्ट भी बता रहे हैं कि कोरोना की लड़ाई में टीका ही मजबूत सहारा है। पटना एम्स के ट्रॉमा इमरजेंसी के HoD डॉ अनिल कुमार का कहना है कि वैक्सीनेशन से ही हम कोरोना की सभी लहरों में लड़ाई लड़ सकते हैं। वैक्सीनेशन और सावधानी के अलावा इससे बचाव का कोई हथियार नहीं है। अगर जिस तरह से पटना में वैक्सीनेशन की रफ्तार है ऐसे ही पूरे प्रदेश में तेज रफ्तार में वैक्सीनेशन हो तो काफी हद तक लोगों को सुरक्षित किया जा सकता है। डॉ अनिल ने लोगों से अपील की है कि अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराए और कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, ताकि संक्रमण की तीसरी लहर के खतरे से बिहार को बचाया जा सके।

वैक्सीनेशन के टॉप 5 जिले

पटना – 32,10,936

पूर्वी चंपारण – 12,57,637

मुजफ्फरपुर – 11,79,393

सारण – 11,64,493

गया – 10,91.461

यहां वैक्सीनेशन में बढ़ानी होगी रफ्तार

शेखपुरा – 1,85,768

शिवहर – 1,94,902

अरवल – 2,26,415

लखीसराय – 2,38,843

जहानाबाद – 3,16,824

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments