Sunday, September 26, 2021
Homeउत्तराखंडRepublic day 2020 : उत्तराखंड में देशभक्ति की धूम, मुख्य कार्यक्रम में...

Republic day 2020 : उत्तराखंड में देशभक्ति की धूम, मुख्य कार्यक्रम में राज्यपाल ने फहराया तिरंगा

उत्तराखंड में गणतंत्र दिवस का जश्न सुबह आठ बजे से शुरू हो गया। सड़कों पर स्कूल की प्रभात फेरियां निकाली गईं। जिसमें बच्चों में देशभक्ति का जोश दिखाई दिया। गणतंत्र दिवस का मुख्य कार्यक्रम देहरादून के परेड मैदान में हो रहा है। जिसमें महामहिम राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली।

इस कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया गया। गणतंत्र दिवस पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने आवास पर सुबह नौ बजे ध्वजारोहण किया। इसके बाद वह दस बजे परेड ग्राउंड में आयोजित राजकीय ध्वजारोहण कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके साथ ही जिलाधिकारियों ने जिला मुख्यालयों में ध्वजारोहण किया। देहरादून स्थित पुलिस लाइन में भी तिरंगा फहराया गया। वहीं राज्यभर के स्कूलों में प्रभात फेरियां और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

सात पुलिस अधिकारी सम्मानित

परेड ग्राउंड में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के सात पुलिस अधिकारियाें को विशिष्ट और सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। नैनीताल के उप निरीक्षक त्रिलोचन जोशी को विशिष्ट सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

विजिलेंस के सीओ मौहम्मद इकबाल फातेह, पुलिस मुख्यालय पर तैनात सीओ रमेश कुमार पाल, इंस्पेक्टर वीरेंद्र दत्त उनियाल, एटीसी के उप निरीक्षक मोहन गिरी, 31वीं वाहिनी पीएसी के प्लाटून कमांडर दिनेश चंद और हरिद्वार में तैनात उप निरीक्षक विशेष श्रेणी विक्रम सिंह को सराहनीय सेवाओं पर पुलिस पदक दिया गया। पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी और पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने उन्हें शुभकामनाएं दी है।

देहरादून पुलिस मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक अनिल के. रतूड़ी ने ध्वजारोहण किया और गणतंत्र दिवस संकल्प की शपथ दिलाई। उन्होंने पुलिस कर्मियों को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिह्न, सराहनीय सेवा सम्मान चिह्न प्रदान कर सभी पदक विजेताओं को बधाई दी।

इस दौरान अशोक कुमार, महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, पी विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना/सुरक्षा/प्रशासन, अमित सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक सतर्कता/ फायर सर्विस, संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक, पी/एम, एपी अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, पुष्पक ज्योति,  महानिरीक्षक, मुख्यालय, पूरन सिंह रावत, पुलिस महानिरीक्षक अपराध अनुसंधान उत्तराखंड आदि सहित समस्त अधिकारी/ कर्मचारी उपस्थित रहे।

डोईवाला और ऋषिकेश में तमाम सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में ध्वजारोहण कर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन के साथ गणतंत्र दिवस मनाया। मुख्य कार्यक्रम नगर निगम में आयोजित किया गया। यहां महापौर अनीता ममगाई ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के शिलापट्ट पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया और ध्वजारोहण किया।

कुमाऊं के सभी जिलों में स्कूलों, सरकारी संस्थाओं और सामाजिक संगठनों द्वारा गणतंत्र दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया और तिरंगा फहराया गया। बच्चों ने प्रभातफेरी निकालकर देशभक्ति के नारे लगाए।

मदरसे से भी निकाली गई रैली

हल्द्वानी में गणतंत्र दिवस के मौके पर क्रॉस कंट्री रेस का आयोजन किया गया। जिसमें पुरुष वर्ग में विशाल पाल प्रथम, प्रकाश भट्ट द्वितीय और रमेश सिंह तृतीय स्थान पर रहे। इसी प्रकार महिला वर्ग में नेहा अधिकारी, नियम लोधीयाल और उत्कर्षा पांडे क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर रहीं। हल्द्वानी में मदरसे से भी रैली निकाली गई। मदरसे के बच्चों ने इस दौरान देशभक्ति के गीत गाए। भाजपा नेता अजय भट्ट और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने भी तिरंगा फहराकर देशभक्ति और एकता का संदेश दिया।

मसूरी में गणतंत्र दिवस के मौके पर आईटीबीपी के परेड ग्राउंड पर आईजी पीएस पापता ने ध्वजारोहण किया। अपने संबोधन में उन्होंने सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने देश में एकता और अखंडता बनाए रखने के साथ युवाओं को देश सेवा में बढ़-चढ़कर प्रतिभाग करने की आग्रह किया।

मसूरी घंटाघर सर्वे चौक पर आयोजित सार्वजनिक कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मसूरी विधायक गणेश जोशी, पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता, क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला और उत्तराखंड कांग्रेस प्रदेश महा मंत्री मन मोहन सिंह मल्ल द्वारा संयुक्त रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया ।इस मौके पर सात विभूतियों को अपने कार्य छेत्रों में बेहतर कार्य करने के लिए सम्मनित किया गया। यहां जामा मस्जिद में पहली बार गणतंत्र दिवस के मौके पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान बच्चों ने देशभक्ति के गीत गाए।

राज्य मंत्री धन सिंह ने श्रीनगर स्थित एनआईटी में राष्ट्रध्वज फहराया। औली में पर्वता रोहण स्कीईंग संस्थान आईटीबीपी के हिमवीरों ने बर्फ में धूमधाम से गणतंत्र दिवस मनाया। गोपश्वर पुलिस लाइन में भी परेड का आयोजन किया गया। इस दौरान कई सांस्कृति और देशभक्ति से ओतप्रोत कार्यक्रम आयोजित किए गए।

सुरक्षा चाक-चौबंद

गणतंत्र दिवस पर होने वाली परेड और अन्य आयोजन को लेकर शनिवार से ही राजधानी में सुरक्षा बढ़ा दी गई। डॉग व बम निरोधक दस्ते ने शहर की जांच की। आईआरबी के जवानों के साथ पीएसी की बटालियन को भी शहर में तैनात किया गया है।

डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने कहा कि गणतंत्र दिवस के मद्देनजर अभी तक ऐसी कोई गतिविधि प्रकाश में नहीं आई है, जिसकी वजह से अलर्ट घोषित करना पड़े। लेकिन शहर में होने वाले आयोजनों को देखते हुए परेड ग्राउंड और आसपास के इलाके में पुलिस गश्त और चेकिंग बढ़ाई गई है।

पारदर्शिता के साथ हो रहा उत्तराखंड का निर्माण : सीएम

गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर प्रदेश वासियों को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्रेड, टेक्नोलॉजी और टूरिज्म के मूल मंत्र को आत्मसात कर ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ आदर्श उत्तराखंड के निर्माण की दिशा में अग्रसर हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड निर्माण के मूल में रही जन भावनाओं को साकार करने के लिए प्रदेश के सीमांत क्षेत्रों का विकास किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराने के लिए न्याय पंचायत स्तर पर ग्रोथ सेंटर स्थापित किए जा रहे हैं। शिक्षा के समग्र विकास के लिए स्कूल, कॉलेज तथा विश्वविद्यालयों में सेंटर ऑफ  एक्सीलेंस स्थापित किए जा रहे हैं।

प्रदेश में 250 की आबादी वाले गांवों को पीएमजीएसवाई के तहत सड़क मार्गों से जोड़ा जा रहा है। टिहरी में डोबरा-चांठी मोटर झुला पुल का काम मार्च 2020 तक पूरा कर लिया जाएगा। राज्य में युवाओं को प्लेटफार्म उपलब्ध करवाने के लिए स्टार्ट अप पॉलिसी लागू की गई है। इन्वेस्टर्स समिट के 12 माह की अवधि में लगभग 18 हजार करोड़ रुपये का निवेश प्रदेश में हो चुका है।

प्रदेश में पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया है। होम स्टे के माध्यम से पर्यटन अब ग्रामीणों की आजीविका का साधन बन रहा है। प्रदेश को मोस्ट फ्रेंडली स्टेट फॉर फिल्म शूटिंग घोषित किया है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और इनके आसपास के मंदिरों के प्रबंधन के लिए देवस्थानम विधेयक बनाया गया है। चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के नियंत्रण में कुशल प्रबंधन संभव होगा। पुजारी, न्यासी, तीर्थ पुरोहितों, पंडों और हक-हकूकधारियों को वर्तमान में प्रचलित देव दस्तूरात और अधिकार यथावत रहेंगे।

43 जेसीओ को रिटायरमेंट के बाद ऑनरेरी रैंक

गणतंत्र दिवस पर थलसेना ने कुल 295 रिटायर जूनियर कमीशंड ऑफिसर (जेसीओ) को ऑनरेरी कैप्टन का रैंक सम्मान प्रदान किया है। इसमें गढ़वाल राइफल्स के 22 व कुमाऊं रेजीमेंट के 21 सेवानिवृत्त जेसीओ शामिल हैं। वहीं सेवारत गढ़वाल राइफल्स के 28 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व छह को ऑनरेरी कैप्टन रैंक मिली है।

जबकि कुमाऊं रेजीमेंट के 27 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व पांच को ऑनरेरी कैप्टन के रैंक से नवाजा गया। सैन्य सेवा के दौरान ही नहीं बल्कि सेवानिवृत्त होने के बाद भी सेना अपने जवानों का सम्मान करती है। प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस के अवसर पर जारी होने वाली वीरता पदक व ऑनर प्राप्त जवानों की सूची में सेना के रिटायर जवानों का नाम भी शामिल होता है। सैन्य सेवा के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले इन जवानों को रिटायरमेंट के बाद ऑनरेरी रैंक की उपाधि देकर सम्मान दिया जाता है।

इस बार गढ़वाल राइफल्स के रिटायर सूबेदार मेजर बलवंत सिंह, दरवान सिंह, दिनेश कुमार, महिपाल सिंह बिष्ट, चंद्रमोहन सिंह, देवेंद्र प्रसाद, धीरज कुकरेती, दिनेश सिंह रावत, जबर सिंह चौहान, लाल सिंह, महादेव प्रसाद, महेंद्र सिंह, मातबर सिंह, मेहरबान सिंह, मातबर सिंह बिष्ट, प्रेम सिंह, सरत सिंह, शक्ति सिंह, शिशुपाल सिंह, ताजवर सिंह व विक्रम सिंह को ऑनरेरी रैंक का सम्मान मिला है।

जबकि कुमाऊं रेजीमेंट के सूबेदार मेजर ऑनरेरी लेफ्टिनेंट मुकेश, रघुबीर सिंह, अभय सिंह, दलीप सिंह, दीवान सिंह, डीवी यादव, दुर्गा सिंह कनियाल, गोविंद सिंह, हीरा सिंह कपकोटी, किशन सिंह, ललित मोहन, महेेश चंद्र, नरेंद्र सिंह, पूरन चंद्र, आरबी शर्मा, राजेंद्र सिंह, राम अवतार, राजेंद्र बिष्ट, सुनील कुमार, राजेंद्र सुयाल व उम्मेद सिंह को ऑनरेरी रैंक मिला है।

कुमाऊं रेजीमेंट के 8 जवान-अधिकारियों को गैलेंटरी अवार्ड

गणतंत्र दिवस पर इस बार कुमाऊं रेजीमेंट के आठ जवानों-अधिकारियों को गैलेंटरी अवार्ड से नवाजा जाएगा।

कुमाऊं रेजीमेंट के इन जांबाजों को मिलेगा मेडल

1. लेफ्टिनेंट जनरल जयवीर सिंह नेगी (इंफैंट्री)-परम विशिष्ट सेवा मेडल
2. कर्नल धीरज कुमार सिंह (कुमाऊं रेजीमेंट)-विशिष्ट सेवा मेडल।
3. मेजर राहुल कुमार राय (कुमाऊं रेजीमेंट/50वीं बटालियन आरआर)-सेना मेडल (गैलेंटरी)।
4. हवलदार रविंदर सिंह (कुमाऊं रेजीमेंट/13 बटालियन आरआर)-सेना मेडल (गैलेंटरी)।
5. नायक इंदर सिंह अधिकारी, 16 कुमाऊं रेजीमेंट-सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
6. नायक नारायण सिंह कुमाऊं स्काउट-सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)-मरणोपरांत
7. नायक सुरेंद्र सिंह रौतेला (कुमाऊं रेजीमेंट/13 आरआर)-सेना मेडल
8. नायक सुरेंद्र यादव (कुमाऊं रेजीमेंट/50 आरआर)-सेना मेडल

गोरखा राइफल्स के इन जांबाजों को मिलेगा मेडल

ब्रिगेडियर हरदेव सिंह सोही (गोरखा राइफल्स)-सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
ब्रिगेडियर मान राज सिंह मान (गोरखा राइफल्स)-सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
कर्नल अक्षय चंद्रन (11 गोरखा राइफल्स)-विशिष्ट सेवा मेडल।
सूबेदार जीतू राय (11 गोरखा रेजीमेंट)-विशिष्ट सेवा मेडल।
मेजर चंदन कुमार ठाकुर (गोरखा रेजीमेंट)-सेना मेडल गैलेंटरी।

गढ़वाल राइफल्स से इन जांबाजों को पदक

ब्रिगेडियर अमित कबथियाल (गढ़वाल राइफल्स)- बीएआर (बार टू सेना मेडल  (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
कर्नल जय विजय सिंह रावत (गढ़वाल राइफल्स)-विशिष्ट सेवा मेडल।
कर्नल आलोक दास गोरखा राइफल्स -सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
कर्नल संजू मैथ्यू 11 गोरखा राइफल्स -सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)
लांस नायक जयपाल सिंह 13 बटालियन गढ़वाल राइफल्स-सेना मेडल
कर्नल अरनंदम बर्द्धन-गोरखा राइफल्स -सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)

इन्हें भी मिलेगा मेडल

ले.ज. संतोष उपाध्याय (आर्टिलरी)-अतिविशिष्ट सेवा मेडल
मेजर जनरल देवेंद्र प्रताप पांडे (इंफैंट्री)-अतिविशिष्ट सेवा मेडल।
कर्नल नरेश गेरौला (जाट रेजीमेंट आरआर)-युद्ध सेवा मेडल
मेजर जनरल अमिताभ जोशी (इंटेलीजेंस कोर)-विशिष्ट सेवा मेडल।
कर्नल अरविंद कुमार डिमरी (मद्रास रेजीमेंट)-विशिष्ट सेवा मेडल।
कर्नल राहुल थपलियाल आर्टिलरी रेजीमेंट -सेना मेडल (ड्यूटी के प्रति समर्पण)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments