Monday, September 20, 2021
HomeबिहारPDS हड़ताल ने छीना गरीबों के मुंह का निवाला : हिम्मत हार...

PDS हड़ताल ने छीना गरीबों के मुंह का निवाला : हिम्मत हार चुके लोग बोल रहे- कोरोना से कम, लेकिन भूख से जरूर मर जाएंगे बाबूजी

‘कोरोना से तो कम, लेकिन भूख से जरूर मर जाएंगे बाबूजी’। यह कहना है मुसहर बस्ती के गेनी मुसहर का। चौसा की बनारपुर पंचायत की खिलाफतपुर मुसहर बस्ती में लोग अब भूख से हिम्मत हार चुके हैं। लॉकडाउन में PDS दुकानदारों के हड़ताल पर चले जाने से उनके मुंह का निवाला छिन गया है। लॉकडाउन और PDS हड़ताल ने यहां के दिहाड़ी मजदूरों की कमर तोड़ दी है। इनको न तो काम मिल पा रहा है और न केंद्र व बिहार सरकार का फ्री अनाज।

जिला मुख्यालयों में तो लोगों के लिए किचन की व्यवस्था की गई है, लेकिन प्रखंड मुख्यालय में कई बस्तियां ऐसी हैं, जो नमक भात के लिए भी PDS के अनाज के भरोसे हैं। ये PDS से पैसा देकर अनाज लेने के लिए भी तैयार हैं, लेकिन PDS दुकानदार झारखंड व राजस्थान सरकार की तर्ज पर यहां भी दुकानदारों को सुविधा की मांग को लेकर अभी भी डटे हुए हैं। वहीं गरीब मुसहर अपने परिजनों व बच्चों का पेट भरने के लिए इस कड़कड़ाती धूप में खेत खलिहान के चक्कर लगा अनाज बीनते नजर आ रहे हैं।

लॉकडाउन में बंद है कामकाज

दलित बस्ती की चंद्रावती देवी ने कहा कि इदमी खइला बिना उपासे रहत बाड़न, पहिले पैसा से राशन मिलत रहे। अब उहो नइखे मिलत। ऐसे दिहाड़ी मजदूरों को लॉकडाउन के चलते घर से निकलने पर काम नहीं मिल पा रहा है, जिसके चलते इनका कामकाज ठप हो गया है। अब इनके सामने जीवनयापन का भी संकट पैदा हो गया है। रोजाना 100-200 रुपए कमाने वाले इन दिहाड़ी मजदूरों के पास अपने बच्चों और परिवार को खिलाने के लिए राशन तक नहीं है।

अनाज के लिए कड़कड़ाती धूप में मशक्कत।
अनाज के लिए कड़कड़ाती धूप में मशक्कत।

47 में से केवल 9 दुकानदारों ने किया अनाज का उठाव

चौसा SFC गोदाम पर तैनात मैनेजर सुजीत कुमार आर्य ने बताया कि प्रखंड में कुल 47 डीलर हैं, जिनमें से 9 लोगों ने अनाज का उठाव कर लिया है। कुछ लोगों के यहां PMG वाला अनाज नही पहुंचा है, लेकिन उसी में उसकी पूर्ति कर दी गई है, जिनमें पवनी, सीकरौल, जलीपुर व चौसा के एक डीलर सामिल हैं।

केवल डीलरों के अंगूठा से हो अनाज वितरण

अखौरीपुर स्थित डीलर संजय कुमार द्वारा बताया गया कि बिहार डीलर एशोशियन के प्रदेश अधयक्ष अरुण कुमार के आव्हान पर सभी डीलर हड़ताल पर हैं, इसलिए अनाज का उठाव नहीं हो पाया है। उन्होंने बताया कि हमारी आठ सूत्री मांगें हैं। मांग है कि वितरण के लिए PPE किट, सैनिटाइजर उपलब्ध कराने के साथ पॉस मशीन में केवल डीलरों के अंगूठे से ही वितरण हो। इसके अलावा राजस्थान व झारखंड सरकार की तरह बिहार सरकार भी डीलरों को वह सारी सुविधाएं दें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments