Thursday, September 23, 2021
Homeझारखण्डरांची : पीएलएफआई नक्सली दिनेश गोप की दोनों पत्नियां सरकारी गवाह बनने...

रांची : पीएलएफआई नक्सली दिनेश गोप की दोनों पत्नियां सरकारी गवाह बनने को तैयार, एनआईए कोर्ट में है मामला

रांची. पीएलएफआई नक्सली दिनेश गोप की गिरफ्तार दोनों पत्नियां सरकारी गवाह बनने को तैयार हो गई है। नक्सली की दोनों पत्नी हीरा देवी व शकुंतला कुमारी को 30 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद स्पेशल कोर्ट की अनुमति एनआईए दोनों महिलाओं से पूछताछ कर रही थी। मामला 25.38 लाख रुपए से जुड़ा है, जो 10 नवंबर 2016 को रांची में एक एसबीआई खाते में जमा किया गया था। जांच में यह पाया गया कि यह राशि बड़ी साजिश का हिस्सा है जिसके लिए वसूली की गई।

दोनों महिलाओं को गिरफ्तार करने के बाद एनआईए के स्पेशल जज नवनीत कुमार की कोर्ट में पेश किया गया था और लेवी संबंधी मामले में इनसे पूछताछ की अनुमति मांगी गई थी। कोर्ट ने पूछताछ की अनुमति देने के साथ ही यह भी आदेश दिया कि दोनों के पारिवारिक सदस्य खासकर महिला रिश्तेदार की उपस्थिति में ही दोनों से पूछताछ की जाए। कोर्ट ने पूछताछ के दौरान दोनों को चिकित्सीय सेवा उपलब्ध कराने का भी आदेश दिया था।

चार वर्ष पूर्व बेड़ो में नक्सलियों से जब्त हुए थे 25 लाख 38 हजार रुपए
10 नवंबर 2016 को बेड़ो थाने में पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप सहित उसके सहयोगियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी। आरोप लगाया गया था कि दिनेश गोप के इशारे पर विनोद कुमार, चंद्रशेखर कुमार व नंदकिशोर महतो सहित अन्य ने लेवी के 25 लाख 38 हजार रुपए स्टेट बैंक की बेड़ों शाखा में जमा करने गए थे, तभी पुलिस ने उन्हें कैश के साथ गिरफ्तार कर लिया।

दो साल पहले एनआईए को सौंपी गई थी जांच की जिम्मेवारी
16 जनवरी 2018 को जांच का जिम्मा एनआईए को सौंपा गया था। एनआईए ने जांच के दौरान नंदलाल स्वर्णकार, गुमला के इंजीनियर सुमंत कुमार व जीतेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था। एनआईए इस मामले में 13 आरोपियों को जेल भेजकर आरोपपत्र दाखिल कर चुकी है। हीरा देवी व शकुंतला कुमारी पर आरोप है कि सुमंत कुमार और अरुण गोप इनकी मदद से लेवी वसूल कर फर्जी कंपनियों के नाम पर बैंक में जमा करते थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments