Wednesday, September 22, 2021
Homeझारखण्डपीएम मोदी ने झारखंड के सीएम से फोन पर चर्चा की, हेमंत...

पीएम मोदी ने झारखंड के सीएम से फोन पर चर्चा की, हेमंत सोरन ने कहा- उन्होंने मन की बात की, काम की बात करते तो बेहतर होता

देश में कोरोना महामारी से राज्यों में भयावह स्थिति बनी हुई है। कई राज्य ऑक्सीजन और जरूरी दवाओं की कमी से जूझ रहे हैं। ऐसे में अब गैरभाजपा शासित राज्य केंद्र पर अपने साथ भेदभाव करने का आरोप लगा रहे हैं। शुक्रवार को झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच हुई बातचीत हुई। सोरेन ने इसके बाद एक ट्वीट किया, जिस पर बवाल खड़ा हो गया। दरअसल, सोरेन ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सिर्फ अपने मन की बात की। बेहतर होता यदि वे काम की बात करते।

झारखंड के मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में बेहतर प्रबंधन से कोरोना को फिर से हराएंगे।

हेमंत सोरेन के इस ट्वीट के बाद कई भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्र सरकार के मंत्री समेत कई बड़े नेता सोरेन के विरोध में उतर आए। इन्होंने सोशल मीडिया पर सोरेन को नसीहत देते हुए प्रधानमंत्री से साथ खड़े नजर आए। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने हेमंत सोरेन को जवाब देते हुए कहा, ‘ कृपया संवैधानिक पदों की गरिमा को इस निम्न स्तर तक न ले जाएं। महामारी के इस कठिन समय में राजनीति नहीं होनी चाहिए।’

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफी रियो ने लिखा,‘ मुख्यमंत्री के रूप में मेरे कई वर्षों के कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के प्रति काफी संवेदनशील रहे हैं। मैं हेमंत सोरेन के इस बयान को पूरी तरह खारिज करता हूं’

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोराम थांगा ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘हम काफी खुशनसीब हैं जो हमें नरेंद्र मोदी जैसा जिम्मेदार प्रधानमंत्री मिला है, जब भी उनका फोन मुझे आता है तो मैं काफी अच्छा महसूस करता हूं’

असम के मंत्री और भाजपा नेता हेमंता बिस्वा ने भी हेमंत सोरेन को करारा जवाब दिया। उन्होंने लिखा, ‘आपका यह ट्वीट न सिर्फ मर्यादा के खिलाफ है बल्कि उस राज्य की जनता की पीड़ा का भी मजाक उड़ाना है जिनका हाल जानने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया था। आपने यह ओछी हरकत करके मुख्यमंत्री की गरिमा गिर दी’

 

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने भी उठाए सवाल
राज्य सरकार वैक्सीनेशन और दवा को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर है। हेल्थ मिनिस्टर बन्ना गुप्ता कई बार इस बात को सार्वजनिक तौर पर बोल चुके हैं कि केंद्र सरकार झारखंड के साथ भेदभाव कर कर रही है। झारखंड को जरूरत की आधी रेमडेसिविर भी नहीं मिल पा रही है। जबकि, यूपी और गुजरात को जरूरत से ज्यादा दी जा रही है।

बेहतर प्रबंधन से कोरोना को हराएंगे
CM हेमंत सोरेन ने कहा कि बेहतर प्रबंधन से कोरोना को फिर से हराएंगे। राज्य के अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों को बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सीय संसाधनों की कमी नहीं हो, इसके लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। कोरोना की दूसरी लहर में जैसे-जैसे चुनौतियों सामने आ रही हैं, व्यवस्था और सुविधाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड 12 दिन में रिम्स में 528 बेड की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल को तैयार कर लिया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments