Tuesday, September 28, 2021
Homeझारखण्डरांची : पुलिसवाले ने पत्नी, बेटी और बेटे की कुल्हाड़ी मार कर...

रांची : पुलिसवाले ने पत्नी, बेटी और बेटे की कुल्हाड़ी मार कर हत्या की, फिर खुद जहर खाकर की जान देने की कोशिश

रांची. यहां शुक्रवार को नशे में धुत एक पुलिसवाले ने पत्नी, बेटी और बेटे की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ने खुद भी जान देने की कोशिश की। उसे रांची के रिम्स में भर्ती कराया गया है। आरोपी का नाम ब्रजेश तिवारी है। मृतकों में ब्रजेश की पत्नी रिंकी देवी (35), बेटी खुशबू (15) और बेटा बादल (10) शामिल है। ब्रजेश पुलिस की स्पेशल ब्रांच में ड्राइवर के पद पर तैनात है। परिवार के साथ आरोपी बड़गाईं इलाके के चंद्रगुप्त नगर में किराए के मकान में रहता था। पारिवारिक विवाद वारदात की वजह बतायी जा रही है।

पत्नी से हुआ था विवाद, हथौड़े मारकर की हत्या
जानकारी के मुताबिक, आरोपी ब्रजेश तिवारी (40) रात को नशे में घर पहुंचा था। इस दौरान उसकी पत्नी रिंकी देवी से बहस होने लगी। नशे की हालत में ब्रजेश ने घर में रखे हुए हथौड़े से पत्नी पर हमला कर दिया। जब बेटा बादल और बेटी खुशबू अपनी मां को बचाने पहुंचे तो आरोपी ने उन पर भी हथौड़े से वार किया। इसके बाद तीनों की हथौड़ा मारकर हत्या कर दी। ब्रजेश मूलरूप से पलामू जिले का रहने वाला है।

इसी मकान में ऊपरी फ्लोर पर पत्नी और दोनों बच्चों के साथ रहता था आरोपी पुलिसकर्मी।

हत्या के बाद आरोपी ने बहन को फोन कर कहा- तीनों को मार दिया
बताया जा रहा है कि आरोपी ने वारदात को अंजाम देने के बाद रांची के पंडरा में रहने वाली बहन को फोन किया और कहा कि तीनों की हत्या कर दी है। इसके बाद उसकी बहन अपने परिजन के साथ रात 12 बजे घटनास्थल पर पहुंची। यहां उन्होंने मकान मालिक को उठाया और कहा कि ब्रजेश अपनी पत्नी और दोनों बच्चों की पिटाई कर रहा है। इसके बाद आरोपी की बहन और मकान मालिक जब ऊपर के कमरे में पहुंचे तो देखा कि ब्रजेश बिस्तर पर पत्नी के शव के पास बैठा था, जबकि दोनों बच्चों के शव जमीन पर पड़े थे। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

पति-पत्नी के बीच कभी लड़ाई झगड़ा सुनाई नहीं दिया- मकान मालिक
वारदात के बारे में मकान मालिक बलदेव साहू ने बताया कि 12 बजे रात आरोपी के परिजन घर पहुंचे और उन्हें घटना की जानकारी दी। जब वे ब्रजेश के कमरे में पहुंचे तो वहां शराब की बोतल, चूहा मारने की दवा और अन्य दवाईयां पड़ी थी। उन्होंने बताया कि ब्रजेश का परिवार पिछले करीब दो साल से यहां रह रहा था। लेकिन कभी भी लड़ाई-झगड़े जैसी बात नहीं हुई। उन्होंने बताया कि घटना के दौरान वे सोने की तैयारी कर रहे थे। कोई शोर सुनाई नहीं दिया। उन्होंने आशंका जताई कि आरोपी ने पत्नी और बच्चों को पहले कुछ ऐसी दवाई खिलाई होगी जिससे वे बेसुध हो गए होंगे और फिर हथौड़ा से उसने वारदात को अंजाम दिया होगा।

घटना की सूचना के बाद मौके पर जुटी भीड़।

जांच-पड़ताल में जुटी पुलिस
उधर, मकान मालिक की सूचना के बाद देर रात घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पुलिसकर्मी ब्रजेश को इलाज के लिए रिम्स भेज कर कमरे को सील कर दिया। करीब 10 घंटे के बाद मौके पर एफएसएल की टीम पहुंचे और जांच पड़ताल में जुट गई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments