Sunday, September 26, 2021
Homeउत्तर-प्रदेशकिसान आंदोलन पर सियासत:झड़प के बाद अखिलेश यादव को हिरासत में लिया;...

किसान आंदोलन पर सियासत:झड़प के बाद अखिलेश यादव को हिरासत में लिया; बोले- मुझे कन्नौज जाने से रोका गया, किसानों की आवाज नहीं दबेगी

यह फोटो लखनऊ की है। किसानों के समर्थन में पदयात्रा न करने दिए जाने से नाराज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने धरना दिया।
  • अखिलेश यादव ने कन्नौज से पूरे प्रदेश में किसान पदयात्रा का किया था ऐलान
  • एक तरह से पुलिस ने अखिलेश को उनके घर में नजरबंद कर दिया था

नए किसान कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कन्नौज से प्रदेश में किसान पदयात्रा का ऐलान किया था। लेकिन कन्नौज जाने से पहले उन्हें घर में एक तरह से नजरबंद कर दिया गया। लेकिन दोपहर बाद अखिलेश अपने आवास से बाहर निकले। पुलिस ने घेरा बनाकर उनका रास्ता रोक लिया। इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हुई तो अखिलेश धरने पर बैठ गए। पुलिस ने अखिलेश यादव व तमाम कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है। इस दौरान कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बल भी प्रयोग किया।

लोकसभा अध्यक्ष को अखिलेश यादव ने लेटर लिखा।
लोकसभा अध्यक्ष को अखिलेश यादव ने लेटर लिखा।

किसानों की आवाज दब नहीं सकती

अखिलेश ने कहा कि सरकार किसानों की आवाज नहीं दबा सकती है। आज मुझे कन्नौज जाने से रोका गया है। कार्यक्रम की अनुमति कोरोना संकट काल का हवाला देकर नहीं दी गई। जब भाजपा या सरकार कोई कार्यक्रम करती है तो कोरोना नहीं होता है, लेकिन हम किसानों की आवाज उठाना चाहते हैं तो हमें कोरोना हो जाएगा। सपा किसानों को जागरुक करेगी। बता दें कि रविवार रात से ही पुलिस ने लखनऊ में अखिलेश के घर और सपा के कार्यालय को बैरिकेडिंग कर घेर लिया। पूरे इलाके को सील कर दिया गया।

सांसद अखिलेश ने लोकसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र
अखिलेश यादव ने सांसद के विशेष अधिकारों के हनन को लेकर लोकसभा अध्यक्ष को एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा है कि यूपी सरकार के इशारे पर पुलिस प्रशासन के मुझे कन्नौज जाने से रोका है। मेरे वाहनों को भी कब्जे में लिया गया। यह राज्य सरकार का अलोकतांत्रिक व्यवहार है। मेरे नागरिक अधिकारों का हनन है। मैं सपा का राष्ट्रीय होने के अलावा यूपी के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी भी निर्वहन कर चुका हूं।

सपा मुख्यालय से लेकर अखिलेश यादव के आवास तक पुलिस का कड़ा पहरा।
सपा मुख्यालय से लेकर अखिलेश यादव के आवास तक पुलिस का कड़ा पहरा।

यह अघोषित कर्फ्यू जैसा
सुबह MLC राजपाल कश्यप और आशु मलिक कुछ कार्यकर्ताओं के साथ अखिलेश यादव से मुलाकात करने के लिए उनके घर के पास पहुंच गए, लेकिन पुलिस ने रोक लिया। इस पर झड़प भी हुई। जिस पर पुलिस ने दोनों नेताओं को हिरासत में लिया है। राजपाल कश्यप ने कहा कि, यह अघोषित कर्फ्यू लगाया गया है। वहीं, वकीलों एक समूह ने भी अखिलेश यादव से मुलाकात करने की कोशिश की। इस दौरान बेरिकेडिंग तोड़कर वकीलों ने आगे बढ़ने का प्रयास किया। पुलिस ने उन्हें रोक लिया तो तीखी नोकझोंक हुई है।

यह फोटो लखनऊ की है। सुबह सपा के दो नेता बैरीकेडिंग को जबरन पार करने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया है।
यह फोटो लखनऊ की है। सुबह सपा के दो नेता बैरीकेडिंग को जबरन पार करने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया है।

हर जिले में निकलेगी यात्रा
राष्ट्रीय प्रवक्ता ने अनुसार सोमवार से उनकी पार्टी यूपी के हर जिले में ‘किसानों की आय बढ़ाओ’ और ‘खेती-किसानी बचाओ’ के नारों के साथ किसान यात्रा निकालेगी। उन्होंने कहा कि इस किसान यात्रा में हमारी पार्टी के कार्यकर्ता, पदाधिकारी पैदल यात्रा करने के साथ साइकल, मोटरसाइकल और अन्य साधनों से रैली निकालते नजर आएंगे।

कन्नौज में कार्यक्रम की नहीं मिली अनुमति
सपा मुखिया अखिलेश यादव के ठठिया क्षेत्र में किसान आंदोलन को DM राकेश कुमार मिश्र ने अनुमति नहीं दी है। उनका कहना है कि अभी कोरोना वायरस खत्म नहीं हुआ है, लिहाजा भीड़ को जुटाने की अनुमति किसी भी स्थिति में नहीं दी जा सकती। सपा मुखिया को पत्र भेजकर इसके लिए अवगत भी करा दिया गया है। यदि फिर भी भीड़ जुटती है तो प्रशासन अपने स्तर से कार्रवाई करेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments